Tuesday , June 15 2021
Breaking News

रियो ओलंपिक में पहले दिन भारत का हाथ खाली, सानिया से लेकर जीतू और चानू ने किया निराश

jituनई दिल्ली। रियो ओलंपिक के पहले दिन भारत का हाथ खाली रहा. तमाम कोशिशों के बावजूद कोई खिलाड़ी पदक तक नहीं पहुंच पाए. शूटिंग में जीतू राय, टेनिस में सानिया मिर्जा और वेटलिफ्टिंग में सैखोम मीराबाई चानू ने निराश किया. वहीं भारतीय टेनिस स्टार लिएंडर पेस और उनके जोड़ीदार रोहन बोपन्ना पुरुष युगल के पहले दौर में हार कर रियो ओलंपिक से बाहर हो गए.

सानिया-प्रार्थना रियो ओलंपिक बाहर
शीर्ष भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा अपनी जोड़ीदार प्रार्थना थोंबारे के साथ रियो ओलम्पिक-2016 के पहले दौर में हारकर बाहर हो गईं. सानिया-प्रार्थना की जोड़ी को महिला युगल वर्ग के पहले दौर के मुकाबले में शुआई पेंग और शुआई झांग की चीनी जोड़ी ने तीन सेटों में 7-6(6), 5-7, 7-5 से हराया. सर्वोच्च विश्व वरीयता प्राप्त सानिया और प्रार्थना को पहले सेट से ही संघर्ष करना पड़ा। भारतीय जोड़ी 70 मिनट के कठिन संघर्ष के बाद यह सेट टाई ब्रेकर तक तो खींचने में सफल रही, लेकिन टाई ब्रेकर में वे अपनी लय कायम नहीं रख पाईं.

पहला सेट गंवाने के बाद सानिया ने जरूर वापसी की और दूसरे सेट में जीत हासिल कर मैच में बराबरी कर ली. हालांकि चीनी जोड़ी ने तीसरे और निर्णायक सेट में सानिया-प्रार्थना को कड़ी टक्कर दी और अंतत: जीत हासिल करते हुए अगले दौर में प्रवेश कर लिया. सानिया-प्रार्थना ने हालांकि दो घंटे 44 मिनट तक चीनी जोड़ी को कठिन संघर्ष करने के लिए मजबूर किया.

पहले दौर में हारकर बाहर हुए पेस-बोपन्ना
भारतीय टेनिस स्टार लिएंडर पेस और उनके जोड़ीदार रोहन बोपन्ना पुरुष युगल के पहले दौर में हार कर रियो ओलंपिक से बाहर हो गए. ओलंपिक टेनिस सेंटर पर खेले गए मैच में पेस-बोपन्ना की जोड़ी को पोलैंड के लुकास कुबोट और मारसिन माटकोव्सकी की जोड़ी ने मात दी. पौलेंड की जोड़ी ने एक घंटे 24 मिनट तक चले मुकाबले में भारतीय जोड़ी को 6-4, 7-6 (6) से मात दी. पेस-बोपन्ना ने पहले सेट में सिर्फ 32 मिनट में ही आत्मसमर्पण कर दिया था. पोलैंड की जोड़ी ने 52 मिनट में दूसरा सेट जीत भारतीय जोड़ी के ओलंपिक के सफर को खत्म कर दिया. यह पेस का सातवां ओलंपिक था, जिसका अंत निराशाजनक रहा.

फाइनल में पहुंचकर दौड़ से बाहर हुए जीतू
भारत के लिए पदक के प्रबल उम्मीदवार निशानेबाज जीतू राय शनिवार को ब्राजीलियाई महानगर रियो डी जेनेरियो में चल रहे ओलंपिक खेलों-2016 की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में निराशाजनक प्रदर्शन कर पदक की दौड़ से बाहर हो गए. शनिवार को ही हुए क्वालिफिकेशन राउंड में छठे स्थान के साथ फाइनल में प्रवेश करने वाले जीतू का फाइनल मुकाबले में प्रदर्शन काफी खराब रहा और वह सिर्फ तीन राउंड तक ही आगे बढ़ सके. पहले प्रयास में जीतू सिर्फ 28.9 का स्कोर हासिल कर सके और कुल 78.7 के स्कोर के साथ सबसे पहले इलिमिनेट होने वाले निशानेबाज रहे.

Loading...

मीराबाई ने भारोत्तोलन में किया निराश
भारतीय महिला भारोत्तोलक सैखोम मीराबाई चानू निराशाजनक प्रदर्शन कर शनिवार को रियो ओलम्पिक-2016 की 48 किलोग्राम भारवर्ग भारोत्तोलन स्पर्धा से बाहर हो गईं। मीराबाई का प्रदर्शन स्नैच स्पर्धा में तो औसत रहा, जहां से वह क्लीन एंड जर्क में बेहतर प्रदर्शन कर पदक की उम्मीद कर सकती थीं। लेकिन क्लीन एंड जर्क स्पर्धा में वह तीनों कोशिशों में असफल रहीं. उन्होंने स्नैच स्पर्धा के दूसरे प्रयास में अपना सर्वश्रेष्ठ 82 किलोग्राम भार उठाया, लेकिन तीसरे प्रयास में 84 किलोग्राम भार वह नहीं उठा सकीं.

टेबल टेनिस में भारत की चुनौती खत्म
टेबल टेनिस में भारत की ओर से पहली बार ओलम्पिक खेलों में चार खिलाड़ी क्वालीफाई करने में सफल रहे थे, लेकिन अनुभवी अचंत शरत कमल के पहले दौर से हारने के साथ ही रियो ओलम्पिक की टेबल टेनिस स्पर्धा में भारतीय अभियान समाप्त हो गया. इससे पहले मौमा दास, मणिका बत्रा और सौम्यजीत घोष भी अपने-अपने पहले दौर का मुकाबला हारकर बाहर हो चुके हैं. पुरुष एकल वर्ग के पहले दौर के मुकाबले में शरत कमल को रोमानिया के उनके प्रतिद्वंद्वी आद्रियान क्रिसान ने 11-8, 14-12, 9-11, 11-6, 11-8 से हराया.

मौमा दास को केवल 21 मिनट में हीं 4-0 से हार झेलनी पड़ी. उन्हें अलावा बाकी तीनों खिलाड़ियों ने कम से कम एक गेम जीता। शरत और सौम्यजीत दोनों ने विरोधियों से एक एक गेम छीने लेकिन उन्हें 4-1 से शिकस्त झेलनी पड़ी पहली बार ओलंपिक में खेल रहीं मणिका बत्रा ने बाकियों से बेहतर प्रदर्शन किया लेकिन 4-2 से हार गयी.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *