Saturday , December 5 2020
Breaking News

‘पब्लिक की उदासीनता’ की वजह से इरोम शर्मिला ने भूख हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया

Iromइंफाल। मणिपुर में आर्म्ड फोर्सेस स्पेशल पावर ऐक्ट (AFSPA) के खिलाफ 16 साल से भूख हड़ताल पर बैठी इरोम शर्मिला ने जब इसे खत्म करने का फैसला लिया तो सब चकित रह गए। इरोम के परिजनों और दोस्तों को भी इसके पीछे की वजह समझ में नहीं आई। लेकिन ‘आयरन लेडी’ के नाम से मशहूर इरोम शर्मिला ने इसकी वजह बता दी है। इरोम ने कहा कि उनके आंदोलन के प्रति लोगों की उदासीनता ने उन्हें यह फैसला लेने के लिए मजबूर किया।

इरोम शर्मिला ने मंगलवार को इंफाल कोर्ट परिसर के बाहर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए 9 अगस्त को भूख हड़ताल खत्म करने की घोषणा की। इरोम ने यह भी कहा कि वह चुनाव भी लड़ेंगी। इरोम ने मीडिया को इस घोषणा के पीछे की वजह बताते हुए कहा कि AFSPA के हटाने की मांग पर सरकार के ध्यान नहीं देने से वह निराश थीं।

Loading...

इसके अलावा सिविलयन बॉडीज और लोगों की तरफ से भी उनकी लड़ाई को अपेक्षित सहयोग नहीं मिलने को भी उन्होंने भूख हड़ताल खत्म करने की वजह बताया। वहीं इरोम के साथी आंदोलनकारियों ने कहा है कि इरोम का यह फैसला मणिपुर से AFSPA हटाने की दिशा में एक बड़ा कदम हो सकता है।
यह भी माना जा रहा है कि इरोम के चुनाव लड़ने का भी असर मणिपुर के राजनीतिक माहौल पर पड़ेगा। मणिपुर से AFSPA हटाने की मांग को लेकर इरोम 2 नवंबर 2000 से भूख हड़ताल पर हैं। असम राइफल्स के जवानों से मुठभेड़ में 10 नागरिकों की मौत के बाद इरोम ने यह हड़ताल शुरू की थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *