Breaking News

डोपिंग विवादः सुशील कुमार भी उतरे नरसिंह यादव के समर्थन में

25 sushilनई दिल्ली। भारत की ओर से कुश्ती के 74 किलोग्राम वर्ग में रियो ओलिंपिक में दावेदारी पेश करने का सपना संजो रहे नरसिंह यादव हाल ही में डोप विवाद में फंस गए हैं। रियो जाने के लिए नरसिंह ने इसी वर्ग के पहलवान सुशील कुमार से कोर्ट में जंग जीती थी। हालांकि, उनके साथी सुशील कुमार ने डोपिंग मामले में नरसिंह का समर्थन किया है।

सुशील का कहना है कि नरसिंह उनके छोटे भाई की तरह हैं और वह उनके साथ खड़े हुए हैं। गौरतलब है कि इससे पहले सुशील कुमार ने ही उन पर तरजीह देते हुए नरसिंह को ओलिंपिक में भेजने का विरोध किया था और फिर से ट्रायल की मांग की थी, जिसे दिल्ली हाई कोर्ट ने ठुकरा दिया था।

दो बार के ओलिंपिक पदकधारी सुशील कुमार ने कहा कि साथी पहलवान नरसिंह यादव का डोप प्रकरण में फंसना दुर्भाग्यपूर्ण है, जिन्हें उन पर तरजीह देते हुए रियो ओलंपिक के लिए चुना गया था। इस विवाद पर प्रतिक्रिया करते हुए सुशील ने कहा कि वह हमेशा अपने साथी पहलवानों का समर्थन करेंगे। इस डोपिंग प्रकरण से नरसिंह की रियो में भागीदारी भी खतरे में पड़ गई है और ऐसे भी आरोप लग रहे हैं कि विरोधी गुट ने इस पहलवान को फंसाया है।

हालांकि, कल ही सुशील ने एक ट्वीट कर लिखा था, ‘सम्मान उनके लिए होता है जो इसे कमाते हैं उनके लिए नहीं जो इसे मांगते हैं।’ सुशील के इस ट्वीट को नरसिंह के डोपिंग विवाद में फंसने के प्रकरण से जोड़कर देखा जा रहा था। लेकिन आज सुशील ने एक विडियो ट्वीट करके साफ कर दिया कि वह किसके समर्थन में हैं।

नरसिंह को प्रतिबंधित एनाबोलिक स्टेरॉयड ‘मिथाएंडीनोन’ का पॉजिटिव पाया गया है। इस 26 वर्षीय पहलवान ने आरोप लगाया कि विरोधी गुट ने उनके खाने में यह प्रतिबंधित पदार्थ मिलाया है। नरसिंह ने भारतीय कुश्ती महासंघ के पास लिखित शिकायत भी दर्ज करा दी है। संघ ने उनके साजिश के दावों का समर्थन भी किया है।
नरसिंह ने पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतकर 74 kg वर्ग में ओलिंपिक कोटा स्थान हासिल किया था। जिसके बाद सुशील कुमार ने इसका विरोध करते हुए फिर से ट्रायल की मांग की थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *