Breaking News

हैदराबाद हाउस में मोदी और ओलांद ने की फाइटर प्लेन राफेल पर डील

modi-holand2नई दिल्ली। तीन दिन की विजिट पर भारत आए फ्रांस के प्रेसिडेंट फ्रांस्वा ओलांद और नरेंद्र मोदी के बीच सोमवार को हाई लेवल मीटिंग के दौरान 36 फाइटर प्लेन राफेल की खरीद पर दोनों देशों के बीच डील हो गई है। हालांकि, इसमें फाइनेंस से जुड़ी कुछ फॉर्मेलिटिज बाकी हैं।
क्या है ओलांद का आगे का प्रोग्राम
– इस समय दोनों देशों के बीच डेलिगेशन लेवल की बातचीत हो रही है।
– इसके बाद लंच करने के बाद दोनों नेता मीडिया से मिलेंगे।
– दोनों नेता गुड़गांव के ग्वालपहाड़ी में इंटरनेशनल सोलर एलायंस के सेक्रेटरिएट की नींव रखेंगे।
– ओलांद सोमवार शाम 6.30 बजे उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और सात बजे सोनिया गांधी से मिलेंगे।
– साढ़े सात बजे प्रणव मुखर्जी से मुलाकात करेंगे।
– आठ बजे प्रेसिडेंट हाउस में उनके सम्मान में डिनर का आयोजन होगा।
26 जनवरी को क्या है ओलांद का प्रोग्राम
– 26 जनवरी को ओलांद 9.30 बजे प्रेसिडेंट हाउस जाएंगे।
– वहां से प्रणब मुखर्जी के साथ राजपथ पर रिपब्लिक डे के मेन फंक्शन में आएंगे।
– दिन में ढाई बजे वह भारत में रहने वाले फ्रांसीसी कम्युनिटी के लोगों से मिलेंगे।
– शाम 5.20 बजे वो फिर प्रणब मुखर्जी से मिलेंगे और उसके बाद वह फ्रांस लौट जाएंगे।
रिपब्लिक डे के चीफ गेस्ट होंगे ओलांद
– ओलांद इस बार 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के चीफ गेस्ट हैं।
– वह इससे पहले अक्टूबर 2013 में भारत आए थे। मोदी ने पि‍छले साल अप्रैल में फ्रांस का दौरा किया था।
– तब हुए समझौतों पर भी बात आगे बढ़ने की उम्मीद है।
– मोदी की यात्रा के दौरान फ्रांस से 36 राफेल वि‍मान खरीदने का एलान हुआ था। न्यूक्लियर एनर्जी, स्पेस, रेलवे समेत कई सेक्टर में 19 करार हुए थे।
– सूत्रों के अनुसार ओलांद के साथ 100 सदस्यों का डेलिगेशन होगा। इसमें फ्रांसीसी कंपनी दसॉल्ट एविएशन और डीसीएनएस के ऑफिसर भी होंगे।
इंडिया-फ्रांस बिजनेस समिट में क्या हुआ?
– ओलांद भारत के पीएम मोदी के साथ चंडीगढ़ में रविवार शाम को इंडिया-फ्रांस बिजनेस समिट में शामिल हुए।
– इससे पहले नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके ओलांद का स्वागत किया और उनके दौरे के बारे में जानकारी दी।
– बाद में दोनों नेता चंडीगढ़ के रॉक गार्डन में मिले। यहां दोनों देशों के बीच डिफेंस, सोलर एनर्जी और स्‍मार्ट सिटी को लेकर 16 एग्रीमेंट साइन हुए।
बिजनेस समिट में मोदी ने क्या कहा…
– भारत और फ्रांस मानवता के दुश्मनों के खिलाफ लड़ने के लिए साथ-साथ हैं।
– मोदी ने कहा, ‘भारत दुनिया में आर्थिक तौर पर सबसे तेजी से बढ़ रहा देश है। हमारे पास आपके लिए लेबर और मार्केट है।’
– भारत में 400 फ्रेंच कंपनियों को काम करने का अच्छा अनुभव हुआ है।
– हमारे पास 80 करोड़ यूथ हैं। हम गुड गवर्नेंस के जरिए ग्लोबल बेंचमार्क को हासिल करना चाहते हैं।
ओलांद का दौरा चंडीगढ़ से क्यों?
– 50 साल पहले चंडीगढ़ शहर को स्विस-फ्रांसीसी आर्किटेक्ट ली कार्बूजिए ने डिजाइन किया था।
– चंडीगढ़ को यूनेस्को में हेरिटेज सिटी का दर्जा दिलवाने की कोशिश भी चल रही है।
– भारत चाहता है कि फ्रांस चंडीगढ़ को स्मार्ट सिटी बनाने में मदद करे।
राफेल की डील पर क्या बोले ओलांद?
– न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में ओलांद ने कहा, ‘राफेल भारत और फ्रांस के लिए एक मेजर प्रोजेक्ट है। इस एग्रीमेंट में कई टेक्निकल पहलू हैं। इसके कारण इसमें समय लग रहा है। लेकिन हम सही ट्रैक पर हैं।’
– मोदी पि‍छले साल अप्रैल में फ्रांस का दौरे पर गए थे। उस दौरान फ्रांस से 36 राफेल वि‍मान खरीदने का एलान हुआ था।
– दोनों देशों के बीच करीब 60 हजार करोड़ की इस डील को लेकर अभी भी बार्गेनिंग चल रही है।
– फ्रांस की एक हाई लेवल टीम फाइनल बातचीत के लिए दिल्ली आई हुई है।
modi-holand1ये 7 करार, जिनसे चंडीगढ़ में मिलेंगी फ्रांस जैसी सुविधाएं
अर्बन ट्रांसपोर्ट: हाईटेक कैमरों से ट्रांसपोर्ट कंट्रोल। मेट्रो के साथ ही रैपिड ट्रांजिट सिस्टम। पॉल्यूशन घटेगा। फ्रांस में 6 शहरों में मेट्रो। हाई स्पीड टीजीवी ट्रेन भी चलती है।
वाटर ट्रीटमेंट: 24 घंटे सप्लाई। रेन हार्वेस्टिंग प्रोजेक्ट। टर्शरी वाॅटर डिस्ट्रीब्यूशन का हाईटेक सिस्टम। फ्रांस में 15250 ट्रीटमेंट प्लांट। सीवर नेटवर्क 8 लाख किमी का।
वेस्ट ट्रीटमेंट: वेस्ट ट्रीटमेंट के लिए डोर-टू- डोर कलेक्शन। इसके साथ ही इंस्टीट्यूशन वाइज प्रोसेसिंग। फ्रांस में 60% वेस्ट रिसाइकिल होता है।
सोलर एनर्जी: 2022 तक 100 मेगावॉट बिजली सोलर प्लांट से। अभी सिर्फ 6 मेगावॉट। स्मॉल रूफ टॉप प्लांट भी। फ्रांस में रोज 5500 मेगावॉट बिजली बच रही है सोलर एनर्जी की वजह से।
अर्बन प्लानिंग: पूरे शहर में सीसीटीवी कैमरे, जिनमें फेस डिटेक्शन और नंबर प्लेट रीडिंग सिस्टम बनेगा। फ्रांस में सिक्योरिटी के लिए कैमरा बेस्ड कंट्रोल हर शहर में।
आर्किटेक्चर: जहां भी नया निर्माण होगा, फ्रांस मदद देगा। मॉडर्न टेक्नोलॉजी के जरिए आर्किटेक्चर इंप्रूव होगा। फ्रांस में एफिल टावर जैसे कई स्ट्रक्चर, जिनसे पर्यटन बढ़ रहा।
हैरिटेज: हैरिटेज साइट्स और सिटी म्यूजियम की प्रिजर्वेशन के लिए सहयोग दिया जाएगा। फ्रांस में हैरिटेज प्रिजर्वेशन मॉर्डन टेक्नीक्स के जरिए।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *