Breaking News

25 साल बाद बोले मुलायम- 1990 में कारसेवकों पर गोली चलवाने का दुख

mulayam-karsevakलखनऊ। मुलायम सिंह यादव ने कारसेवकों पर गोली चलाए जाने पर अफसोस जताया है। रविवार को लखनऊ में एक प्रोग्राम में उन्होंने कहा, “अयोध्या में कारसेवकों पर फायरिंग करवाने का मुझे दुख है। लेकिन, धर्मस्थल को बचाना भी जरूरी था।” बता दें, 1990 में कारसेवकों पर हुई फायरिंग में 16 लोग मारे गए थे।
मुलायम ने क्या दिया तर्क और इस्तीफे पर क्या कहा?…
– मुलायम पार्टी हेडक्वार्टर में सोशलिस्ट नेता कर्पूरी ठाकुर की जयंती के मौके पर स्पीच दे रहे थे।
– उन्होंने कहा कि पार्लियामेंट में तब के अपोजिशन लीडर अटल बिहारी वाजपेयी ने इस घटना का जिक्र किया था। मैंने उन्हें यह जवाब दिया था कि धर्मस्थल बचाने के लिए गोली चलाई गई थी।
– सपा सुप्रीमो ने कहा, “अगर धर्मस्थल को बचाने में और भी जान जातीं, तब भी मैं पीछे नहीं हटता। इसीलिए बाद में मैंने नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे दिया था।”
बीते दिनों चर्चा में रहा अयोध्या का मुद्दा
– बीते दिनों अयोध्या में राम मंदिर के लिए नई शिलाओं की राम जन्मभूमि न्यास के प्रेसिडेंट नृत्य गोपालदास पूजा की थी।
– गुजरात और राजस्थान से पत्थर अयोध्या पहुंचे थे।
– पत्थरों को बाहर से मंगाने की प्रशासन से इजाजत नहीं ली गई थी।
– पूजने के बाद पत्थर रामसेवकपुरम में रखे गए हैं। यहीं से इन शिलाओं को निर्माण स्थल पर भेजा गया।
– बीते जून में मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों को दान दिए जाने की घोषणा की गई थी।
सामने आया था बाबरी मस्जिद का मॉडल
– इसके बाद बाबरी मस्जिद को लेकर भी हलचल तेज हो गई।
– कुछ मुस्लिम संगठनों और बाबरी मस्जिद के पैरोकारों ने इसका एक मॉडल बनाया।
– बारावफात के दिन इस मॉडल को विवादित स्थल से महज 200 मीटर दूर रखा गया।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *