Tuesday , November 24 2020
Breaking News

‘अर्धांगिनी’ ने मायावती पर पलटवार कर पलट दी यूपी की राजनीति

mayawatimayaswatiलखनऊ। मायावती के पक्ष में लड़ी जा रही लड़ाई का रुख इस आम गृहणी ने चंद घंटे में मोड़ दिया है. वह गृहणी जो TVS स्कूटी से चलती है. रोज सुबह बच्चों को स्कूल छोड़ती है. घर के लिए सब्जी लाने जाती है. आशियाना के मोहल्ले वालों की माने तो वह आम गृहणी बहुत ही सहज स्वभाव की है. हम बात कर रहे हैं दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाती सिंह की. महज 24 घंटे के भीतर स्वाती ने मायावती पर जो पलटवार किया है उसने उत्तर प्रदेश की राजनीति में उथल-पुथल मचा दी है. स्वाती आज आम नागरिक का चेहरा बन चुकी है. अपनी सास, मां और बच्चों की सुरक्षा के लिए स्वाती जिस तरह से लड़ रही हैं, उससे स्वाती यूपी में हर औरत और हर घर का चेहरा बनती जा रही है.

दरअसल मायावती पर भद्दा बयान देने के बाद जिस दयाशंकर को सभी राजनीतिक पार्टियों ने अछूत घोषित कर दिया था. जिसे बीजेपी ने खुद पार्टी से निकाल दिया. उसी दयाशंकर को लेकर जो लड़ाई स्वाती ने छेड़ी है, उसके समर्थन में बीजेपी शनिवार को सूबे की राजधानी लखनऊ में बेटी के सम्मान को लेकर मैदान में उतरने के लिए कमर कस ली है. स्वाती के बयानों और आरोपों पर मायावती लाख सफाई दे रही हों लेकिन सच तो ये है कि मायावती ने खुद अपने सलाहकारों को जमकर फटकार लगाई है. हलांकि अपने कॉडर को बचाने के लिए मायावती ने उनपर कोई कार्रवाई तो नहीं कि है लेकिन नसीमुद्धीन सिद्धकी से लेकर रामअलच राजभर तक को खरी खोटी सुनाने में कोई कसर नहीं बख्शी है. यहां तक कि नीचे से लेकर ऊपर तक बैठे नेताओं को साफ चेतावनी दी है कि ऐसी हरकत दोबारा करने कर उन्हे बख्शा नहीं जाएगा.

स्वाती सिंह की 12 साल की बेटी लखनऊ के लेरॉन्टो कानवेंट स्कूल में पढ़ती है. जिसे स्वाती सिंह खुद स्कूटी से स्कूल छोड़ने जाती है. इसके अलावा घर की सब्जी से लेकर राशन तक का सामान स्वाती खुद ही लाती है. इसलिए उस पर खतरे का डर ज्यादा है. जिसके चलते स्वाती ने पुलिस सुरक्षा की मांग की है.

बलिया की रहने वाली स्वाती ने लखनऊ विश्वविधालय से पढ़ाई की है. इसी दौरान विश्वविधायल में ही पढ़ने वाले छात्र नेता दयाशंकर सिंह से उनकी दोस्ती हो गई. देखते ही देखते दोस्ती प्यार में बदल गई और दोनों ने शादी कर ली.

Loading...

शादी के बाद दोनों के बीच सब कुछ ठीक नहीं चला. दयाशंकर के राजनीतिक जीवन में भागिदारी को लेकर दोनों के बीच झगड़ा भी हुआ. बात बढ़ी तो दोनों के बीच लंबे समय तक बातचीत भी बंद हो गई. लेकिन जैसे ही पति दयाशंकर की जान खतरे में पड़ी तो स्वाती ने अपने पति और बच्चों की जान बचाने को लेकर उसने मायावती पर पलटवार कर चंद घंटो में ही प्रदेश का नया चेहरा बन गईं. हर परिवार इस महिला के समर्थन में बातें कर रहा है. लखनऊ के आशियाना इलाके के लोग इस सहज नारी का ये रूप देख कर हैरान हैं. और उसके जज्बे को सलाम करते नजर आ रहे हैं. सबकी जुबान पर ये चर्चा है कि वो अपने पत्नी का धर्म निभा रहे हैं.

ऐसा नहीं है कि स्वाती ने मायावती के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए अपनी नीजि जिंदगी को ताक पर रख दिया. स्वाती पिछले दो दिनों से अपनी सास, मां और बेटी को भी संभाल रही है. पिछले दो दिनों से पूरे परिवार के लोग परेशान हैं. स्वाती का कहना है कि उसकी बेटी डिप्रेशन में चली गई है. स्वाती का कहना है कि घर के जरूरी सामान लेने के लिए घर से बाहर निकलने में भी डर लगता है.

दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती और दो अन्य नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. उनका कहना है कि मुझे और मेरी बेटी के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वाले नेताओं को मायावती क्यों नहीं हटा रही हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *