Breaking News

टी-20 मुकाबले में जिम्बाब्वे ने भारत को 2 रन से दी मात

19zimbabwe-1हरारे। टीम इंडिया के मुकाबले अपेक्षाकृत तौर पर कमजोर मानी जा रही जिम्बाब्वे की टीम ने शनिवार को उलटफेर करते हुए 2 रन से टी-20 मुकाबला जीत लिया। हरारे स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर तीन मैचों की सीरीज के पहले मैच में जिम्बाब्वे ने भारत के सामने 171 रनों का लक्ष्य रखा था। भारत इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाया और पूरे 20 ओवर खेलने के बाद छह विकेट के नुकसान पर 168 रन ही बना सका।

भारत के लिए मनीष पांडे (48) ने सबसे ज्यादा रन बनाए। अपना पहला मैच खेल रहे मनदीप सिंह ने 30 रनों का योगदान दिया। अंतिम ओवरों में मुश्किल में घिरी भारतीय टीम को कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 19) और अक्षर पटेल (18) ने जीत के करीब पहुंचा दिया था, लेकिन भारतीय कप्तान अंतिम गेंद पर जीत के लिए जरूरी चार रन नहीं बना सके।
दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में शुमार कप्तान महेंद्र सिंह धोनी इस बार नाकाम रहे। भारत को आखिरी ओवर में आठ रन की जरूरत थी, लेकिन धोनी अपनी 17 गेंद में 19 रन की धीमी पारी में एक भी बडा शाट नहीं खेल पाए। धोनी ने आखिरी ओवर में भी एक रन लेकर ऋषि धवन को स्ट्राइक थमा दी, जिनमें बड़ा स्ट्रोक खेलने की क्षमता नहीं थी।

आईपीएल के नियमित क्रिकेटरों मनीष पांडे (48) और अक्षर पटेल (18) ने कुछ देर किला लड़ाया, लेकिन निर्णायक क्षणों में जिम्बाब्वे के उन गेंदबाजों के सामने आउट हो गए जो लुभावनी निजी लीग में नहीं खेलते हैं। जब भारत को 42 गेंद में 79 रन चाहिये थे, तब पांडे ने विरोधी कप्तान ग्रीम क्रेमर को लगातार दो छक्के जड़कर 14वें ओवर में 16 रन बनाए।

Loading...

धोनी ने अगले ओवर में पहला चौका टी मुजाराबानी की गेंद पर जड़ा । पांडे ने अगले ओवर में मेडजिवा को चौका लगाकर कुल 12 रन लिए। तीन ओवर में भारत को अब 38 रन की जरुरत थी । उस समय लग रहा था कि पांडे टीम को जीत तक ले जाएंगे, लेकिन मुजाराबानी की गेंद पर खराब शाट खेलकर वह विकेट गंवा बैठे। उन्होंने 35 गेंद में एक चौके और तीन छक्के के साथ 48 रन बनाए। इस समय भारत को 12 गेंद में 21 रन चाहिए थे। अक्षर पटेल ने एक चौका और एक छक्का लगाया, जिससे आखिरी ओवर में आठ रन की जरूरत थी, जो भारत नहीं बना सका।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *