Breaking News

JNU का ताजा सच, CFSL जांच में सही पाए गए देश विरोधी नारेे वाले वीडियो

11kumar11www.puriduniya.com नई दिल्ली। सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी (सीएफएसएल) ने उन वीडियो को सही पाया है, जिनमें जेएनयू में कुछ छात्र-छात्राओं को देश विरोधी नारे लगाते हुए दिखाया गया है। सीएफएसएल ने घटना से जुड़े वीडियो की बारीकी से जांच की, जिनमें ये वीडियो सही पाए गए हैं। वीडियो में कई छात्रों को देश विरोधी नारे लगाते हुए देखा जा सकता है।

9 फरवरी को जेएनयू परिसर मे संसद हमले के दोषी अफजल गुरु को लेकर छात्रों के दो गुटों के बीच झड़प हुई थी। आरोप है कि यहां आयोजित हुए कार्यक्रम में अफजल को शहीद कहा गया था, देश विरोधी नारे लगाए गए और कश्मीरी विस्थापितों के प्रति एकजुटता का प्रदर्शन करते हुए आजाद कश्मीर की मांग का समर्थन किया गया।

कार्यक्रम को लेकर खासा विवाद भी उठ खड़ा हुआ था। कार्यक्रम के दौरान रिकॉर्ड किए गए और कुछ न्यूज चैनलों पर दिखाए गए वीडियो की सत्यता पर सवाल खड़े किए गए थे, लेकिन सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी की रिपोर्ट में सच सामने आ गया है।

उपकरणों की जांच

Loading...

दिल्ली पुलिसल के मुताबिक लैब न्यूज चैनल के कैमरा, स्टोरेज कार्ड और वायर समेत तमाम उपकरणों की भी जांच कर रही है। इन्हीं वीडियो के आधार पर कैंपस में देश विरोधी नारे लगाने में शामिल लोगों की पहचान की गई थी।

कन्हैया सहित 21 पर दोष

कार्यक्रम को लेकर खासा विवाद हुआ। सरकार और जेएनयू प्रशासन ने इसे गंभीरता से लेते हुए घटना की जांच के लिए एक समिति गठित की थी, जिसने छात्र संघ नेता कन्हैया कुमार सहित 21 छात्रों को दोषी पाया था। कन्हैया के अलावा उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य को राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल ये छात्र जमानत पर रिहा हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *