Tuesday , November 24 2020
Breaking News

….तो क्या घटी में तब्दील हो रहा है यूपी का ‘कैराना’

मुख्यमंत्री बताएं कैराना से पलायन कर रहे हैं हिन्दू परिवार

www.puriduniya.com लखनऊ। उत्तर प्रदेश के शामली में सांसद हुकुम सिंह ने एक ऐसा बयान दिया है जिससे राजनीतिक भूचाल आ सकता है. यहां एक सूची जारी कर उन्होंने दावा किया है कि कैराना से 346 हिंदू परिवारों ने गुंडागर्दी के बाद पलायन किया है. सिंह ने कहा कि यहां गुंडागर्दी का आलम यह है कि ये हिंदू परिवार दिन-रात दहशत में जी रहे थे. नगरपालिका परिषद शामली के सभाकक्ष में पत्रकारों से वार्ता में कैराना से भाजपा सांसद हुकुम सिंह ने बताया कि पूर्व में उन्हें 250 हिंदू परिवारों के पलायन की जानकारी थी लेकिन उनके द्वारा लगातार इस मामले में काम किया गया और सुची तैयार की गई जिसके बाद यह बात सामने आई कि अबतक यहां से 346 हिंदू परिवारों का पलायन हो चुका है.

हुकुम सिंह ने कहा कि कैराना के हालात पहले ऐसे नहीं थे, लेकिन जब से प्रदेश में सपा सरकार ने कमान संभाली है तब से गुंडागर्दी आलम चरम पर है. बदमाशों ने कैराना में रंगदारी न देने पर व्यापारियों की हत्या की साथ ही उनसे लूटपाट भी की. यही नहीं उन्होंने आरोप लगाया कि कैराना के आसपास के गांवों में बहू बेटियों की इज्जत भी सुरक्षित नहीं रह गई है. इसका नतीजा है कि बीते तीन साल के भीतर ही कैराना से बड़े पैमाने पर लोगों ने पलायन का रुख अपनाया है.

सिंह ने कहा पलायन करने वालों में अधिकांश ऐसे व्यापारी हैं, जिनका कारोबार यहां अच्छा चल रहा था. बदमाशों ने उनसे रंगदारी मांगी जिसे देने में वे असमर्थ थे. व्यापारियों ने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई, मगर पुलिस प्रशासन आम जनता में सुरक्षा का भाव पैदा करने में नाकाम रही जिसके वजह से व्यापारियों ने पलायन जैसा कठोर कदम उठाया. एक सवाल के जवाब में सांसद ने कहा कि पलायन का मुद्दा कोई चुनावी नहीं है, यह क्षेत्र के लोगों का दर्द है.

Loading...

आपको बता दें कि 2017 में सूबे में चुनाव होने वाले हैं. इस चुनाव के पहले सभी पार्टियों ने कमर कस ली है और एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का दौर यहां चल रहा है. वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने उत्तर प्रदेश के मुख़्यमंत्री को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि क्या कैराना से पलायन कर रहे परिवारों का अपराध केवल हिन्दू होना है ?

10keshav-prasad-mauryaकेशव प्रसाद मौर्य ने सपा सरकार पर आरोप लगाते हुए अखिलेश यादव से कुछ सवाल पूछे

  • उन्होंने पूछा कि क्या कैराना में रह रहे हिन्दूओं को वहां रहने का अधिकार नहीं ? क्या मुख्यमत्री को इस बात की जानकारी है कि कैराना कस्बे तथा आसपास के गांवों से 346 हिन्दु परिवार एक समुदाय की अपराध, अपहरण, लूट रंगदारी तथा बलात्कार की घटनाओं के भय से पलायन कर गये ? सरकार को कुछ पता भी या नहीं।
  • मुख्यमंत्री जी जबाव दें कि पिछले लगभग तीन वर्षो से कैराना में हिन्दू व्यापारियों से लगातार रंगदारी मांगी जा रही है और रंग दारी न देने वाले 4 व्यापारियों की अब तक हत्या हो चुकी है ?
  • जहानपुरा गांव जहां 60 से 70 परिवार हिन्दूओं के रहते थे आज जहानपुर में सभी हिन्दू परिवार आखिर क्यों पलायन कर गए? कैराना गाँव के दबंगों को सपा विधायक का विधायक का संरक्षण प्राप्त है। क्या मुख्यमंत्री ये नहीं जानते हैं।
  • कैराना के निकट के गांव अकबरपुर सुनेहरी के निवासी सुरेन्द्र की पत्नी गुड्डी का 4 अप्रैल को अपहरण कर एक वर्ग विशेष के 5 लोगों ने गैंगरेप किया तथा नामजद रिपोर्ट के बावजूद पुलिस मामले पर पर्दा डालने हेतु पीड़िता के देवर और भतीजे का नाम आरोपियों के साथ डाल दिया गया। पुलिस प्रशासन इस परिवार को न्याय देने तथा सुरक्षा देने के बजाय पुलिस पीड़िता परिवार की प्रताड़ना कर रही है तथा समझौते का दबाव बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी इसपर चुप क्यों हैं?
  • पुलिस प्रशासन पीड़ितों को सुरक्षा देने के बजाय आखिर किसके दबाव प्रभाव में कैराना में हो रही ये दबंगई और अपराध पर आँख मूंद रही है सरकार।
  • भाजपा अध्यक्ष ने कहा यह भी खबरे है कि कैराना अवैध हथियारों का केन्द्र बनता जा रहा है। मौर्य ने कहा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का दल वहां जाकर पूरी स्थित का जायजा लेगा तथा पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए आन्दोलन करेगा। मौर्य ने बसपा सुप्रीमों मायावती जी तथा कांग्रेस से भी इतनी गंभीर समस्या पर चुप्पी का कारण पूछा और बोला कि इस मुद्दे पर कांग्रेस और बसपा की चुप्पी बता रही है कि इन्हे जनता की कितनी फ़िक्र है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *