Breaking News

हत्यारों को मिला है शिवपाल यादव का समर्थन : केशव प्रसाद मौर्या

02shivpal-yadavwww.puriduniya.com इलाहाबाद। मथुरा में हुए घटना को लेकर शुक्रवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथो लेते हुए शिवपाल पर जम निशाना साधा। केशव ने गंगोत्री गार्डेन में आयोजित भाजपा के कार्यक्रम के दौरान कहा कि मथुरा में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव के संरक्षण प्राप्त गुंडो ने दो पुलिस अफसरों की जान ली। केशव ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को चाचा शिवपाल यादव पर कार्रवाई करने की मांग की।

गुरूवार को मथुरा में सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाने को लेकर पुलिस व कब्जाधारियों के बीच देर रात तक गोलीबारी व मारपीट हुई। कब्जाधारियों द्वारा पुलिसवालों पर जमकर गोलीबारी व बम के गोले से हमला किया गया। कब्जाधारियों की इस गोलीबारी में एसपी व एसओ शहीद हो गए। इसके अलावा कई दर्जन जवान घायल अवस्था में हस्पताल में भर्ती हैं। इस मामले में शुक्रवार को केशव प्रसाद ने मथुरा में ड्यूटी के दौरान शहीद हुए पुलिस अफसरों के लिए शोक व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने सपा सरकार पर जमकर हमला बोला। केशव ने कहा कि इसके लिए जिम्मेदार शिवपाल यादव हैं। आंदोलन की अगुवाई करने वाला एक भूमाफिया है। उसे मंत्री जी का पूरा संरक्षण प्राप्त है। कब्जाधारियों को पुलिस का भी खौफ नहीं नजर आया। पुलिस अफसरों पर भी गोलियां चलाने में नहीं चुके। अखिलेश सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्थ हो गई है। सच पूछा जाए तो अखिलेश का सीएम की कुर्सी पर बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं बनता। केशव ने कहा कि मैं प्रदेश सरकार से अनुरोध करता हूं कि मथुरा में हुए इस घटना के लिए जिम्मेदार सभी दोषियों पर सख्त कार्रवाई करें। साथ ही इसके लिए मुख्य रूप से सीएम अखिलेश को अपने चाचा पर भी कार्रवाई करनी चाहिए।

शहीदों अधिकारियों के परिजनों को सरकार दे एक करोड़

Loading...

प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को शहीद पदाधिकारियों के लिए शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि एेसे जाबाज जवानों की की कोर्इ भरपार्इ नही हो सकती। पीड़ित परिजनों को सरकार द्वारा 20 लाख रूपए राहत राशि के बजाय एक करोड़ रूपए की राहत राशि दी जानी चाहिए। ताकि बच्चों की परवरिश व भविष्य को थोड़ा सुधारा जा सके। को ऐसे जबाज अधिकारियों को एक करोड़ की राहत राशि दे। ताकि उनके बच्चे व घर वालों को थोर्ड़ी आिर्थक राहत दी जा सके।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *