Thursday , June 24 2021
Breaking News

मोदी सरकार की दूसरी सालगिरह से पहले झूमा बाजार

share-marketwww.puriduniya.com मुंबई। मोदी सरकार की दूसरी सालगिरह से एक दिन पहले शेयर बाजार जश्न के मूड में था। ऐसा लग रहा था जैसा मार्केट मोदी सरकार को सालगिरह पर गिफ्ट देने की तैयारी में है। खुशी की वजह मॉर्गन स्टैनली, ग्लोबल मार्केट्स में तेजी और अमेरिकी हाउसिंग मार्केट के डेटा रहे। 1 मार्च के बाद बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में एक दिन की सबसे बड़ी तेजी आई। इससे इन्वेस्टर्स की संपत्ति में 1.61 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई।

मोतीलाल ओसवाल फाइनैंशल सर्विसेज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मोतीलाल ओसवाल ने बताया, ‘अमेरिकी होम सेल्स के डेटा अच्छे रहे हैं। इससे दुनिया भर के शेयर बाजारों में तेजी आई। हमारे यहां शॉर्ट कवरिंग हुई, जिससे मार्केट में इतना उछाल देखा गया।’ उन्होंने कहा कि मॉनसून सीजन में अच्छी बारिश की उम्मीद है और क्रूड ऑइल भी स्टेबल है। इससे भी बाजार में रैली को सपॉर्ट मिला।

ट्रेडिंग सेशन के आखिर में बीएसई सेंसेक्स 2.28 पर्सेंट चढ़कर 25,881.17 पॉइंट्स पर पहुंच गया। यह 17 मई के बाद इसका सबसे ऊपरी लेवल है। एनएसई निफ्टी भी पिछले 6 सेशंस का लॉस खत्म करते हुए 2.4 पर्सेंट की बढ़त के साथ 7,934.90 पर पहुंच गया। विदेशी और भारतीय संस्थागत निवेशकों दोनों ने ही बुधवार को खरीदारी की।बीएसई के प्रविजनल डेटा के मुताबिक, एफआईआई ने 495 करोड़ रुपये और डोमेस्टिक इंस्टिट्यूशनल इन्वेस्टर्स ने 337 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे।
इससे पहले मॉर्गन स्टैनली ने भारतीय शेयर बाजार की रेटिंग बढ़ाकर ओवरवेट कर दी थी। उसका कहना है कि इंडियन मार्केट सस्ता है। मॉर्गन स्टैनली ने रिपोर्ट में लिखा है, ‘इमर्जिंग मार्केट्स (ईएम) की तुलना में भारतीय बाजार सस्ता है।’ रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय बाजार एमएससीआई ईएम से 36 पर्सेंट अधिक वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहा है, लेकिन यह प्रीमियम स्टेबल मैक्रो-इकॉनमी और कंपनियों की प्रॉफिट ग्रोथ में संभावित बढ़ोतरी के चलते है।

सभी सेक्टर बढ़त के साथ बंद हुए

Loading...

फाइनैंशल्स, पब्लिक सेक्टर बैंक और आईटी शेयर्स में सबसे ज्यादा खरीदारी हुई। टेक महिंद्रा, इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक निफ्टी के टॉप परफॉर्मिंग स्टॉक्स रहे। इनमें क्रमश: 10.42 पर्सेंट, 4.99 पर्सेंट और 4.56 पर्सेंट की तेजी आई। निफ्टी में सिर्फ सिप्ला का शेयर गिरावट के साथ बंद हुआ। इसमें 4.42 पर्सेंट का करेक्शन हुआ।

वहीं, ब्रिटिश ट्रेजरी में कमर्शल सेक्रटरी जिम ओ नील ने ईटी नाउ से कहा कि भारत के लिए यह महत्वपूर्ण समय है। उन्होंने कहा, ‘चीन की तुलना में भारत अच्छा दिख रहा है। अगले 15-20 साल में भारत का डेमोग्राफिक प्रोफाइल (युवा आबादी) बेहतर होगा, जबकि चीन की हालत इस मामले में खराब होती जाएगी। ऐसे में आगे चलकर भारत की ग्रोथ चीन से तेज रह सकती है। हालांकि, ऐसा होता है या नहीं, यह कई बातों पर निर्भर करता है। यह देखना होगा कि भारत अपनी प्रॉडक्टिविटी किस तरह बढ़ाता है।’ बुधवार की तेजी के बाद निफ्टी 50 इंडेक्स 7,820, 7,880, 7,920 जैसे रेजिस्टेंस लेवल को पार कर चुका है। अब यह 7,790 के 200 डे मूविंग एवरेज के करीब ट्रेड कर रहा है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि इसका अगला टारगेट 8,200 हो सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *