Breaking News

भारत में लाइसेंस राज खत्म हो गया, पर इन्स्पेक्टर राज अब भी जारी: रघुराम राजन

Raghuram-Rajan21www.puriduniya.com भुवनेश्वर। रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि भारत में भले ही लाइसेंस राज खत्म हो गया है, पर अब भी कई मायनों में इन्स्पेक्टर राज चल रहा है। राजन ने भारत में स्टार्ट-अप्स के बिजनस के लिए बेहतर माहौल बनाने के लिहाज से कहा है कि रेग्युलेशन इंडस्ट्री को बेहतर बनाने के लिए होने चाहिए, न कि उद्यमियों को हतोत्साहित करने के लिए।

राजन ने इंडस्ट्रियों के लिए सेल्फ सर्टिफिकेशन का सुझाव दिया है और कहा कि अधिकारियों को इसका दुरुपयोग रोकने के लिए नियंत्रक शक्ति की तरह काम करना चाहिए।

राजन ने भारत में लघु और कुटीर उद्योगों के लिए आसान नियम बनाने की वकालत की और इस संदर्भ में ब्रिटेन और इटली का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, ‘हमने देखा है कि ब्रिटेन में नियम आसान हैं, जबकि इटली में कठिन। यह देखा गया है कि ब्रिटेन में इटली के मुकाबले स्टार्ट-अप्स ज्यादा तेजी से बढ़ते हैं।’

Loading...
चौथे ‘ओडिशा नॉलेज हब’ में मंत्रियों, बैंकरों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए राजन बोले कि भारतीय अर्थव्यवस्था सुधार के दौर में है, लेकिन कुछ क्षेत्र अब भी दबाव से गुजर रहे हैं। इन पर फोकस करने की जरूरत है। राजन ने कहा कि सरकार को लघु और कुटीर उद्योगों पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि RBI के लघु और कुटीर उद्योगों के क्षेत्र को प्राथमिकता देने के बाद सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों ने उन्हें ज्यादा कर्ज देना शुरू किया है।

राजन ने कहा, ‘इस सेक्टर में सरकार और योजना बनाने वालों को आसानी से एंट्री और एग्जिट के प्रावधानों, फाइनैंस की आसानी से उपलब्धता, इनपुट और आउटपुट मार्केट तक पहुंच, क्रेडिटेबल टैक्स से सुरक्षा और स्वस्थ प्रतिस्पर्धा जैसी चीजों पर ध्यान देने की जरूरत है।’ उन्होंने कहा कि सरकार को स्टार्ट-अप्स के लिए बेहतर माहौल बनाने की जरूरत है। राजन ने नई तकनीक और नए संस्थानों की शुरुआत पर भी जोर दिया जो लघु और कुटीर उद्योगों को लोन दे सकें, जिससे वे बाद में बड़े उद्योग बन सकें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *