Breaking News

हिंदू आतंकवाद: मालेगांव और इशरत केस के जरिए कांग्रेस पर पलटवार करेगी बीजेपी

m soniawww.puriduniya.com नई दिल्ली। मालेगांव धमाकों के केस में आए नए मोड़ के बाद बीजेपी अब यूपीए सरकार के दौरान ‘हिंदू आतंकवाद’ का खौफ पैदा करने के आरोपों पर कांग्रेस को घेरने के लिए कमर कस चुकी है। इतना ही नहीं पार्टी इशरत जहां एनकाउंटर जैसे जिहादी समूहों से जुड़े मामलों पर पर्दा डालने के आरोपों पर भी कांग्रेस को घेरने की पूरी तैयारी में है।

मालेगांव धमाके मामले में साध्वी पज्ञा ठाकुर को NIA से क्लीन चिट और लेफ्टिनेंट कर्नल श्रीकांत पुरोहित पर से मकोका हटाए जाने की सिफारिश का बात सामने आने के बाद बीजेपी और कांग्रेस के बीच फिर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। बीजेपी ने कांग्रेस पर राजनीतिक फायदे के लिए आतंकी घटनाओं की जांच का इस्तेमाल करने का आरोप लगाकर हमले तेज करने की तैयारी में हैं।

बीजेपी इस बात को जोर-शोर से उठाने वाली है कि ‘हिंदू आतंकवाद’ का डर पैदा करना और इशरत केस के तार लश्कर से जुड़े होने की बात को दबाना उन साजिशों का ही हिस्सा थे, जिसका लक्ष्य उस वक्त गुजरात के CM रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘फर्जी एनकाउंटर’ केस में निशाना बनाना था।
केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने बताया, ‘कांग्रेस के सभी आरोप बेबुनियाद हैं और हम उन्हें खारिज करते हैं। उल्टा, उन्हें ही लोगों को फंसाने के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस हताश हो गई है और अगुस्टा वेस्टलैंड जैसे भ्रष्टाचार के मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है।

Loading...

शर्मा ने कहा कि समझौता एक्सप्रेस और मालेगांव केस में गिरफ्तार लोगों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले। इसी तरह सोहराबुद्दीन केस में भी बीजेपी प्रमुख अमित शाह को फंसाने के लिए केंद्रीय एजेंसियों पर बेहद कमजोर सबूतों के आधार पर चार्ज-शीट दाखिल करने का दबाव बनाया गया। कुछ मामलों में एजेंसियों ने अंतिम समय में हाथ खड़े कर दिए तो कुछ आरोप कोर्ट में पिट गए।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *