Sunday , November 29 2020
Breaking News

कांग्रेस के पास पीके है, हमारे पास बुआ जी: अखिलेश

4 akkiwww.puriduniya.com लखनऊ। इलेक्शन मोड में आए यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने अपनी मुख्य प्रतिद्वंद्वी बीएसपी सुप्रीमो मायावती को बुआ कहकर हमला तेज कर दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने प्रचार के लिए पीके ढूंढ़ लिया है, मगर हमारे पास बुआ जी हैं। विरोधी ही हमारा प्रचार कर रहे हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय और यूनीसेफ की ओर से यूपी बजट पर आयोजित पैनल डिस्कसन के उद्‌घाटन समारोह में सीएम ने बीएसपी सुप्रीमो पर तंज किया, वह कहती हैं कि उनकी मेट्रो बनाने की चाहत थी। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे की शुरुआत भी उनके समय में हुई। हम पूछना चाहते हैं कि 2008 में योजना बनाई तो उसके बाद 2012 तक क्या किया?

सीएम ने कहा उन्होंने तो जिसको एक्सप्रेस-वे बनाने के लिए चुना, वही घाटे में चला गया। हम भी पीपीपी के आधार पर काम करना चाह रहे थे लेकिन माहौल ऐसा था कि कोई यूपी में पैसा लगाने को ही तैयार नहीं था। हमने अपने पैसे से काम शुरू किया और किसानों को भी 4 गुना मुआवजा दिया। सीधे किसानों से जमीन खरीद कर एक्सप्रेस वे बना रहे हैं।

अखिलेश ने कहा कि लोग आज डिजिटल इंडिया की बात कर रहे हैं। हमने लैपटॉप बांटे थे तो लोग इसे झुनझुना बता रहे थे। कहते थे कि समाजवादी तो अंग्रेजी के विरोधी हैं। यह आधुनिक समाजवाद है। शहरों में इन्फ्रास्ट्रक्चर नहीं खड़ा किया तो चलना मुश्किल हो जाएगा। समय पर काम शुरू होगा तो सभी को सहूलियत मिलेगी। नहीं तो, आप देख ही रहे हैं कि दिल्ली को आज ऑड-ईवन की जरूरत पड़ रही है।

सीएम ने कहा कि हम आईटी सिटी बना रहे हैं। एचसीएल और इन्फोसिस आएंगे तो उसका लाभ हमारे पूर्वांचल और बुंदेलखंड के युवाओं को भी होगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि अक्टूबर-नवंबर तक एक्सप्रेस-वे बनकर तैयार हो जाएगा।

Loading...

सीएम ने कहा कि हम तो आईआईआईटी के लिए भी प्रयास कर रहे हैं लेकिन केंद्र की ओर से अड़चनें आ रही हैं। पिछली सरकार ने 5 साल तक एम्स के लिए जमीन नहीं दी। हमने रायबरेली में जमीन दी। हमको ही शिलान्यास में नहीं बुलाया। गोरखपुर में भी हम जमीन दे रहे हैं। वहां तक फोर लेन सड़क और बिजली देने का वादा किया, तब वहां केंद्र सरकार तैयार हुई है। एक नेता ने कहा कि हमारे यहां सैनिक स्कूल के लिए जमीन दे दीजिए तो हमने कहा कि आपको दो बनवाने पड़ेंगे। अब झांसी और कन्नौज में हमने सैनिक स्कूल के लिए जमीन दी।

इस मौके पर लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति एसबी निमसे ने कहा कि इस सरकार में एजुकेशन के लिए जितना बजट दिया गया है, उतना पहले कभी नहीं मिला। उन्होंने कहा कि इससे हम डॉ. राम मनोहर लोहिया पीठ, इंस्टिट्यूट ऑफ अडवांस स्टडीज, वाइल्ड लाइफ प्रोग्राम सहित कई नए संस्थान और कोर्स शुरू करेंगे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *