Thursday , November 26 2020
Breaking News

सियासी ‘शक्तिमान’ की त्रासद मौत

PTI3नई दिल्ली। शक्तिमान नहीं रहा। आज शाम पांच बजे उत्तराखंड पुलिस के इस बहुचर्चित घोड़े ने दम तोड़ दिया। शक्तिमान की मौत के साथ ही पिछले 36 दिनों से उसकी हालत को लेकर चल रही ऊहापोह की स्थिति आज समाप्त हो गई। हालांकि यह कहना गलत न होगा कि शक्तिमान की चोट के बाद शुरू की गई राजनीति आज उसकी मौत पर भी कमती नहीं दिख रही। हालात ये हैं शक्तिमान की त्रासद मौत ने कांग्रेस की ‘शक्ति’ और बीजेपी का ‘मान’, दोनों ही मटियामेट कर दिया।
याद दिला दें कि पिछले महीने उत्तराखंड की पूरी सियासत को गर्म कर देने या यूं कहें कि उत्तराखंड की कांग्रेस सरकार को गिरा देने वाली घटना के मूल में शक्तिमान ही था। अब उत्तराखंड में बीजेपी के मंत्री व नेतागण इस पर एक बार फिर से राजनीति करते दिख रहे हैं। उत्तराखंड बीजेपी के अध्यक्ष अजय भट्ट ने मामले को राजनीतिक रंग देते हुए इसके लिए पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने यह भी कहा कि शक्तिमान का इलाज ढंग से नहीं होने के बाद ही उसकी मौत हो गई। यानी कहना होगा कि शक्तिमान की चोट के बाद अब उसकी मौत पर भी राजनीति शुरू हो गई है। हालांकि उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने इस पर कहा कि शक्तिमान की मौत से उन्हें गहरा आघात लगा है और वह अपने दुख को शब्दों में बयान नहीं कर सकते।

गौरतलब है कि उत्तराखंड में बीजेपी के प्रदर्शन रैली के दौरान शक्तिमान चोटिल हो गया था जिसका असर उसके पूरे शरीर पर पड़ा और उसने दम तोड़ दिया। डाॅक्टरों ने बताया कि एक टांग कट जाने के बाद वह रिकवर नहीं कर पा रहा था और लगभग आज शाम पांच बजे उसने दम तोड़ दिया। डाॅक्टरों ने यह भी बताया कि आॅपरेशन के बाद शक्तिमान खड़ा नहीं हो पा रहा था, जिससे उसका शरीर काम करना बंद करने लगा और उसकी मौत हो गई।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *