Breaking News

एक के बाद एक क्यों धुआं-धुआं हो रहे हैं डंपिंग ग्राउंड

dumping-groundठाणे। डंपिंग ग्राउंड में आग लगने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। देवनार की आग अभी शांत भी नहीं हुई कि महानगर के दूसरे डंपिंग ग्राउंड भी आग की चपेट में आने से धुआं-धुआं हो रहे हैं। सोमवार को मुलुंड डंपिंग ग्रांउड फिर सुलग उठा, जिससे आसपास का पूरा वातावरण धुआं-धुआं हो गया। उधर, वसई के गोखिवारे डंपिंग ग्राउंड में रुक रुककर सुलगती आग से फैलता धुआं आसपास के निवासियों का जीना मुहाल कर रखा है।
सोमवार को ठाणे शहर से सटे मुलुंड स्थित हरी ओम नगर डंपिंग ग्राउंड में अचानक आग लगी। सुबह करीब साढ़े 8 बजे लगी आग से बड़े पैमाने पर अगल-बगल के परिसर में धुआं फैला। धुएं के चलते हरी ओम नगर, कोपरी सहित ठाणे पूर्व के तमाम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। फायर ब्रिगेड के चार फायर इंजन और चार टैंकर घटनास्थल पर आग बुझाने में लगे और तब आग पर काबू किया गया, लेकिन आग से निकला धुआं करीब 6 घंटे तक आसपास आसमान में फैला रहा।

आग के बाद फैले धुएं से नागरिकों और बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ा। स्थानीय निवासी और समाजसेवी जनक व्यास के अनुसार कचरे की दुर्गंध से लोगों का जीना हराम हो गया। व्यास के मुताबिक मुंबई मनपा की तरफ से डंपिंग ग्राउंड को बंद करने का आश्वासन देकर लोगों की आंखों में धूल झोंकने का काम शुरू है।

Loading...

मुंलुंड के हरिओम नगर स्थित मुंबई मनपा के इस डंपिंग ग्राउंड को 15 अगस्त, 2014 को बंद करने की घोषणा की गई थी। लेकिन अभी भी मुंबई के विभिन्न परिसरों से निकले कचरे को प्रतिदिन यहां फेंका जा रहा है। पिछले दिनों मुलुंड के सांसद किरीट सोमैया ने डंपिंग ग्राउंड को बंद करने की मांग करते हुए धरना दिया था। इससे पहले भी ठाणे और मुंबई के लोगों की तरफ से कई बार आंदोलन और मोर्चे का आयोजन किया जा चुका है, लेकिन अभी तक डंपिंग ग्राउंड पर कचरा फेंकना शुरू ही है। डंपिंग ग्राउंड पर कचरे का बड़ा टीला बन गया है और इसकी सीमा खत्म हो चुकी है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *