Sunday , November 29 2020
Breaking News

न्यूक्लियर हथियार बनाने में जुटा पाकिस्तान

Pakistan-Nवॉशिंगटन। पाकिस्तान भारत से मुकाबला करने के लिए अपने न्यूक्लियर हथियार को बढ़ा रहा है। कुछ दिन पहले जारी कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इस समय पाकिस्तान के पास 110 से 130 न्‍यूक्लियर हथियार हैं। पाकिस्‍तान को लगता है कि न्यूक्लियर हथियार बढ़ाने से वह किसी भी देश से जंग कर सकता है।

कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस की 28 पेज की रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के मिलिट्री एक्शन को रोकने के लिए पाकिस्तान राजधानी इस्लामाबाद में तेजी से न्यूक्लियर हथियारों में बढ़ोत्तरी कर रहा है। पाकिस्तान को इस बात का डर सता रहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच न्यूक्लियर जंग हो सकती है। न्यूक्लियर हथियार के लेकर इस रिपोर्ट में चिंता भी जाहिर की गई है।

क्या है कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस?
कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस यूएस पार्लियामेंट की इंडिपेंडेंट विंग है। यह समय-समय पर एक्सपर्ट की मदद से इंटरनेशनल इश्यू पर रिपोर्ट तैयार करती है। सीआरएस की रिपोर्ट के आधार पर यूएस पालिर्यामेंट अपने फैसले लेती है।

पहले भी आ चुकी है ऐसी रिपोर्ट
कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस पहले भी जारी की जा चुकी है। बीते साल बुलेटिन ऑफ एटॉमिक साइंटिस्ट्स ने एक रिपोर्ट में कहा था कि 2025 तक पाकिस्तान दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी न्यूक्लियर ताकत बन सकता है। पाकिस्तान के पास फिलहाल 110-130 न्यूक्लियर हथियार हैं। 2011 में इनकी संख्या 90-110 के बीच थी। यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि 2025 तक पाकिस्तान के पास 220-250 न्यूक्लियर हथियार होंगे। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान शॉर्ट रेंज की न्यूक्लियर मिसाइलों को तैयार कर रहा है। इससे भारत की ओर से की गई कार्रवाई का तुरंत जवाब दे सके।

Loading...

पाकिस्तान के परेशान होने की ये हैं 3 वजहें?
पाकिस्तानी आर्मी ने बीते साल अगस्त के आखिर में पार्लियामेंट्री कमेटी के सामने कहा था कि उसके लिए देश के बाहर भारत के अलावा कोई और खतरा नहीं है। भारत द्वारा लगातार हथियार खरीदे जाने से भी पाक आर्मी परेशान नजर आ रही है।
1. भारत पाकिस्तान से हथियारों की खरीद में बहुत आगे है। भारत ने पिछले कुछ सालों में 6,31,700 करोड़ रुपए (100 बिलियन USD) के हथियार खरीदे हैं। पाकिस्तानी अखबार के मुताबिक भारत ने 80 फीसदी हथियार पाकिस्तान को टारगेट करने के लिए खरीदे हैं। पाकिस्तानी मिलिट्री ने कहा है कि इंडियन आर्मी ‘खरीददारी की होड़’ में ऐसा कर रही है। वहीं भारत आर्म्स इम्पोर्ट करने के मामले में दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है।

भारत का डिफेंस बजट भी पाकिस्तान से तीन गुना ज्यादा
पिछले 10 साल में भारत ने मिलिट्री पर खर्च को दोगुना कर दिया है। इस साल भारत ने डिफेंस बजट 2.46 लाख करोड़ रुपए (40.07 बिलियन USD) रखा है। भारत का यह डिफेंस बजट पाकिस्तान से तीन गुना ज्यादा है। पाकिस्तान का डिफेंस बजट 78 हजार करोड़ रुपए है। भारत के पास नेवी वॉरशिप और टैंक भी पाकिस्तान से करीब-करीब तीन गुना ज्यादा हैं। हर जंग में पाकिस्तान ने भारत से मुंह की खाई है। पाकिस्तान ने 1947 के संघर्ष, 1965 और 1971 की जंग और 1999 में कारगिल वॉर में भारत से करारी हार का सामना किया है। पाकिस्तान यह अच्छी तरह से जानता है कि वह जंग में कभी भी भारत से नहीं जीत सकता।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *