Breaking News

पनामा पेपर्स: जर्नलिस्ट ने बताई खुलासे की कहानी

dump2बर्लिन। करीब एक साल पहले उच्च स्तरीय सूत्रों ने जान जोखिम में डाल लाखों दस्तावेजों को पनमनियन लॉ फर्म मोसेक फोनसेका से जर्मन न्यूज पेपर जीटॉयचे साइटुंग के पत्रकार के जरिए लीक करने का फैसला किया था। जॉन डोये (लीगल डॉक्युमेंट में कल्पित नाम) नाम के सूत्र ने जर्मन जर्नलिस्ट फ्रेडरीक ऑइबमेय और बस्तीअन ऑइबमेय से कहा था कि उसके पास बेहद गोपनीय और महत्वपूर्ण जानकारी है।

हेलो, मैं जॉन डोए हूं। क्या आप डेटा को लेकर दिलचस्पी रखते हैं? जीटॉयचे साइटुंग ने जवाब दिया: बिल्कुल, पूरी दिलचस्पी है। सूत्र सूचना देने को लेकर राजी था लेकिन वह गुमनाम रहने की मांग कर रहा था। इस जानकारी को लीक करना बेहद जोखिम भरा काम था। इसके साथ ही इसे समझना भी कम कठिन नहीं था।

 जॉन ने इस सूचना को सौंपने के बदले दो शर्तें रखी थीं। जॉन ने कहा था, ‘इसे सौंपने के बाद मेरी जिंदगी खतरे में होगी। हमलोग केवल इनक्रिप्ट फाइल देंगे और कोई मुलाकात नहीं होगी।’ इसका नतीजा अप्रत्याशित रूप से सामने आया। एक करोड़ 10 लाख दस्तावेजों को इंटरनैशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट (आईसीआईजे) और दुनिया भर के 300 पत्रकारों से साझा किया गया।

जर्नलिस्ट बस्तीअन ने एबीसी न्यूज से कहा, ‘सूत्रों ने यह फैसला इसलिए किया क्योंकि उन्हें लग रहा था कि मोसेक फोनसेका अनैतिक काम कर रहा है। सूत्रों को लग रहा था कि पनामा स्थित यह लॉ फर्म दुनिया के लिए खतरा है। उसे एक्सपोज किया जाना चाहिए। सूत्र इसे खत्म करना चाहते थे। इसी प्रेरणा के साथ उन्होंने यह काम किया। हमलोग मानते हैं कि हमारे सूत्रों को वास्तविक खतरा है क्योंकि इसमें बेहद ताकतवर लोग शामिल हैं। ये ऐसे लोग हैं जो ताकत का इस्तेमाल करना बखूबी जानते हैं।’

पनामा पेपर्स के खुलासों से साफ है कि मोसेक फोनसेका संदिग्ध कंपनी बना, जिसमें मिडल-ईस्ट के आतंकवादियों और वॉर क्रिमिनल्स के भी पैसे लगे हैं के जरिए पैसे बना रहा था। इसमें मेक्सिको, ईस्टर्न यूरोप और ग्वाटेमाला के ड्रग्स किंग्स-क्वीन, ईरान और नॉर्थ कोरिया में परमाणु हथियारों का प्रसार करने वालों के साथ दक्षिणी अफ्रीका के हथियार डीलर के पैसे लगे हैं।

Loading...

हालांकि डेटा में यह भी साफ दिख रहा है कि इसमें सैकड़ों ऑस्ट्रेलियन नागरिक हैं और दर्जनों प्रतिष्ठित ऑस्ट्रेलियन लॉ फर्म्स, बैंक अकाउंटेंट, बड़ी कंपनियों जिनमें बीएचपी और विल्सन भी शामिल हैं के पैसे इन संदिग्ध कंपनियों लगे हैं।

दुनिया भर में अवैध पैसों को लगाने और उससे कमाने का धंधा जोरों पर है। मोसेक फोनसेका बहुत खतरनाक तरीके से इस काम को रहा है। टैक्स जस्टिस नेटवर्क का अनुमान है कि 21 से 32 ट्रिलियन डॉलर 80 संदिग्ध कंपनियों में टैक्स से बचने के लिए निवेश किए गए हैं। एक अनुमान के मुताबिक इस तरह के निवेश के कारण दुनिया भर की सरकारो को 250 बिलियन डॉलर जो राजस्व टैक्स के रूप में मिलता उससे नुकसान उठाना पड़ा है। यदि इन पैसों का इस्तेमाल किया जाए तो दुनिया कई समस्याओं को खत्म किया जा सकता है।

मोसेक फोनसेका का कहना है कि उसने कुछ भी गलत नहीं किया है। उसने कहा कि हमारी कंपनियों का इस्तेमाल हुआ है तो ऐसा जानबूझकर नहीं किया गया है। ज्यादातर मामलों में अनुभवी ग्राहक हैं जो बैंक या लॉ फर्म में काम करते हैं। इनका पनामा के इस फर्म और कंपनी से सीधा संबंध है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *