Breaking News

टेंडर पाने के लिए नेताजी से लेकर गार्ड तक से किया सेक्स –

tendorकेरल।सरिता को केरल में ‘सोलर सरिता’ के नाम से भी जाना जाता है। उसे कथित रूप से एक हाई प्रोफाइल लाइजनर कहा जाता है। अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर वह कंपनियों को सरकारी कॉन्ट्रैक्ट दिलाने का काम किया करती थी। एक फाइनेंशियल आपराधिक मामले में उसे 2005 में भी अरेस्ट किया गया था। सरिता ने 10 वीं में टॉप किया था, वह अंग्रेजी, हिंदी, मलयालम तीनों भाषाओं में पारंगत है। सरिता की मां ने उसकी शादी दुबई में बसे राजेंद्रन से कर दी।
शादी के वक्त उसकी उम्र सिर्फ 18 साल थी। शादी के बाद राजेंद्रन अपनी नौकरी के लिए खाड़ी चला गया। फिर उसने सरिता से ये कहते हुए उसे तलाक लिया कि उसके दूसरे मर्दों से संबंध हैं। तलाक के समय उनका एक बच्चा हो चुका था।
तिरुवनंतपुरम. केरल के सोलर पैनल प्रोजेक्ट घोटाले की मुख्य आरोपी सरिता एस नायर ने कोर्ट में सनसीख़ेज़ ख़ुलासा किया है।सरिता ने हाईकोर्ट में कहा है कि टेंडर हथियाने के लिए उसने नेताओं से लेकर गार्डों तक सेक्स किया।

एक याचिका दायर करके सरिता ने घोटाले में मुख्यमंत्री ओमन चांडी की भूमिका की सीबीआई से कराने की मांग की है। सरिता नायर वो महिला है, जिसके आरोपों की वजह से पिछले केरल के मुख्यमंत्र ओमान चांडी का सिंहासन डोल रहा है।

Loading...
सरिता ने याचिका में आरोप लगाया कि राज्य सरकार द्वारा गठित विशेष जांच दल ने एक प्रमुख ने सोलर प्रोजेक्ट शुरू करने के लिए बिज़नेसमैन एम श्रीधरन नायर को कथित रूप से राजी करने में केरल के मुख्यमंत्री की भूमिका की जांच नहीं की।
‘टीम सोलर रिन्यूएबल एनर्जी सोल्यूशंस’ की एक डायरेक्टर और इस मामले में आरोपी सरिता ने मुख्यमंत्री कार्यालय को कंपनी से जोड़ने का प्रयास किया। उसने कहा कि श्रीधरन नायर ने मुख्यमंत्री से मिलकर मेगा सौर परियोजना में 40 लाख रुपए की शुरुआत राशि का निवेश करने से पहले उनसे निजी भरोसा पाया था।
इससे पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरिता ने खुलासा किया था कि टेंडर हथियाने और नेताओं के करीब आने के लिए उसने गार्ड से लेकर सेक्रेटरी तक से सेक्शुअल रिलेशन बनाए। 36 साल की सरिता के कारण केरल में ओमन चांडी की कुर्सी पर खतरा बना हुआ है। पिछले दिनों पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके खुद सरिता ने खुलासा किया है कि नेता, मंत्री, सांसद, विधायक और उनके प्राइवेट सेक्रेटरी तक ने उससे केवल सेक्स की वजह से घोटालों में मदद की।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *