Breaking News

‘भारत माता की जय’ पर बाबा रामदेव के बयान को लेकर छिड़ा राजनीतिक बवाल

bharat-mata-ki-jai-rowनई दिल्ली। ‘भारत माता की जय’ पर बाबा रामदेव के बयान को लेकर बवाल शुरू हो गया है। हालांकि BJP योग गुरु रामदेव के बयान का बचाव करती हुई दिख रही है। कांग्रेस के संजय झा ने रामदेव के कॉमेंट पर कहा, ‘RSS की मीटिंग में सिर कलम करने की बाबा रामदेव की धमकी एक हिंसक गतिविधि और लोगों को भड़काने की कार्रवाई है। मिस्टर मोदी, आपके ऐक्शन का इंतजार है।’

राष्ट्रीय जनता दल ने रामदेव के बयान की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि वह भारत को हिंदू तालिबान बना देना चाहते हैं। RJD प्रवक्ता मनोज झा ने कहा, ‘गांधी और सुभाष ने कभी भी भारत माता की जय नहीं कहा। वे हमेशा जय हिंद कहा करते थे। रामदेव राष्ट्रवाद को पातंजलि के उत्पादों के साथ मिलाकर पेश न करें। राष्ट्रवाद कोई उत्पाद है। सत्तारूढ़ पार्टी से रामदेव की नजदीकी को देखते हुए लोगों का कहना है कि वह BJP का एक्सटेंशन हैं।’

उधर, BJP नेता और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘हर भारतवासी के दिल में देश प्रेम है। भारत माता की जय कहना कोई फैशन नहीं है बल्कि इसे तो पैशन होना चाहिए। इस पर विवाद नहीं किया जाना चाहिए। जिसकी इच्छा हो, वह जय कहे और जिसकी न हो, वह न कहे लेकिन गाली न दे।’

इससे पहले ‘भारत माता की जय’ नारे पर बाबा रामदेव ने कहा था, ‘हमारे हाथ कानून से बंधे हैं, वरना कोई भारत माता का अपमान करे तो एक क्या लाखों सिर काटने का साहस रखते हैं।’ हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह कानून को मानते हैं। दरअसल योग गुरु रामदेव ओवैसी का जवाब दे रहे थे। उन्होंने ओवैसी का नाम लिए बिना ही हमला बोला। बाबा रामदेव ने कहा कि कोई टोपी पहनकर कहता है कि ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलेगा, चाहे कोई मेरी गर्दन काट ले।

 (cont).I want to say there is a rule of law & we respect constitution

इस विवाद की शुरुआत तब हुई थी जब संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भारत माता की जय के नारे लगाने सिखाए जाने चाहिए। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि अगर कोई उनके गर्दन पर चाकू भी रख दे तो वह भारत माता की जय नहीं कहेंगे। इसके बाद से पूरे देश में इस नारे को लेकर बयान दिए जा रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *