Breaking News

दुनिया का ‘सबसे बड़ा’ टैक्स लीक, कई बड़े नेताआें और सिलेब्रिटीज के नाम

dumpपैरिस। इसे दुनिया के सबसे बड़े खुलासों में से एक कहा जा सकता है। लीक दस्‍तावेजों से सामने आया है कि पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, यूक्रेन के राष्‍ट्रपति, सऊदी अरब के किंग और रूसी राष्‍ट्रपति ब्‍लादिमीर पुतिन के निकट सहयोगियों के अलावा फुटबॉलर लियोनेल मेसी सहित कई सिलेब्रिटीज ने किस तरह अपनी संपत्ति को छिपाने के लिए टैक्‍स हेवन की मदद ली।

इंटरनैशनल कन्‍सॉर्शियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्‍ट्स (आईसीआईजे) ने रविवार को पनामा पेपर्स के नाम से इन लीक टैक्‍स दस्‍तावेजों को जारी किया। लीक दस्‍तावेजों की तादाद 1 करोड़ 15 लाख है। इन दस्‍तावेजों को दुनियाभर के 100 मीडियाग्रुप्‍स के पत्रकारों ने देखा और उन्‍होंने इसे अभी तक के इतिहास की सबसे बड़ी जांच बताई। जांच में 70 देशों के 370 रिपोर्ट्स शामिल थे।

लीक दस्‍तावेजों में जिन नामों का जिक्र है उनमें 12 देशों के वर्तमान और पूर्व प्रमुख, 140 से ज्‍यादा बड़ी राजनीतिक हस्तियां और कई सिलेब्रिटीज शामिल हैं। हालांकि, इन दस्‍तावेजों को लीक करने वाले सूत्र का पता नहीं चल पाया है। इन रिकॉर्ड्स को सबसे पहले जर्मनी के अखबार Sueddeutsche Zeitung ने हासिल किया था और फिर उसी ने आईसीआईजे की मदद से दुनियाभर की मीडिया को इसे सौंपा।

मामला सामने आने के बाद एडवर्ड स्‍नोडेन ने इस पर ट्विट किया और इसे सबसे बड़ा खुलासा बताया। उन्‍होंने कहा, ‘डेटा जर्नलिज्‍म के इतिहास में सबसे बड़ा लीक लाइव हो गया है और यह करप्‍शन के बारे में है।’

आईसीआईजे की तरफ से कहा गया कि 2 लाख 14 हजार ऑफशोर कंपनियों की जांच से 1 करोड़ 15 लाख दस्‍तावेजों को हासिल किया गया। आईसीआईजे की तरफ से कहा गया कि हालांकि, इनमें से ज्‍यादातर मामले वैध हैं, लेकिन उनका जबर्दस्‍त राजनीतिक असर होगा।

जांच के बाद आईसीआईजे की तरफ से जो प्रमुख दावे किए गए, वे इस प्रकार हैं:
– पुतिन का नाम लीक दस्‍तावेजों में नहीं है, लेकिन उनके बहुत करीबी सहयोगियों ने गुपचुप तरीके से 2 अरब डॉलर से ज्‍यादा की रकम बैंकों और शेल कंपनियों (नॉन ट्रेड्रिंग कंपनी) के जरिए दूसरी जगह भेजा।
– दस्‍तावेजों के जरिए जिन ऑफशोर कंपनियों की पहचान की गई है, उनके से कुछ का ताल्‍लुकात चीनी राष्‍ट्रपति शी चिनफिंग के परिवार से है। बता दें कि चिनफिंग चीन में भ्रष्‍टाचार के खिलाफ कड़ा अभियान चला रहे हैं।
– आइसलैंड के प्रधानमंत्री एस डेविड और उनके पत्‍नी ने गुपचुप तरीके से एक ऑफशोर फर्म का मालिकाना हक लिया था। देश में आर्थिक मंदी के हालात के दौरान इस फर्म का आइसलैंड के बैंक बॉन्‍ड्स में लाखों डॉलर का मालिकाना हक था।
– अर्जेंटीना के फुटबॉल स्‍टार लियोनेल मेसी और उनके पिता ने पनामा की एक कंपनी मेगा स्‍टार एंटरप्राइज इंक को खरीदा था। यह एक शेल कंपनी थी और पहले जब स्‍पेन के जांचकर्ताओं ने बाप-बेटों के टैक्‍स से जुड़ी जानकारियों की जांच की थी, तब इसके बारे में कुछ पता नहीं था।

दस्‍तावेजों से जुड़ी जानकारी सामने आने के बाद यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया में अर्थशास्‍त्री गैब्रियल जुकमैन ने कहा, ‘इससे पता चलता है कि ऑफशोर वर्ल्‍ड में खराब कार्य और अपराध कितने गहरे तक समाए हुए हैं।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *