Breaking News

अब तीसरी महिला ने आरके पचौरी पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

pachouriनई दिल्ली। ख्यात पर्यावरणविद् डॉक्टर आरके पचौरी पर यौन उत्पीड़न का तीसरा आरोप लगा है। 75 वर्षीय पचौरी को कोर्ट में घसीटने वाली यह विदेशी महिला यूरोप की रहने वाली है, जिसकी पहचान उसके वकीलों ने जाहिर नहीं की है।
महिला ने अपने बयान में कहा, ‘पिछले साल जब पचौरी का नाम यौन उत्पीड़न मामले में आया था, तब मुझे जरा भी आश्चर्य नहीं हुआ। मैंने 2008 में पचौरी के साथ चार महीने तक काम किया था। इस दौरान उन्होंने कई बार मेरी कमर पर हाथ रखा, लंबे समय तक मुझे गले लगाए रखा जो सहज नहीं था और मेरे गाल पर किस किया…।’

महिला ने बताया, ‘उन्होंने मुझे अपने ‘समर हाउस’ में वीकेंड बिताने का न्योता दिया था, जिसके लिए मैंने मना कर दिया था। यह बात उन्हें अच्छी नहीं लगी। मैंने उन्हें बताया कि उनका व्यवहार उचित नहीं था। इसके बाद TERI में मेरा ट्रांसफर दूसरे विभाग में कर दिया गया और बाद में बर्खास्त भी कर दिया गया।’

पिछले साल फरवरी में TERI में काम करने वाली 26 साल की एक महिला कर्मचारी ने पचौरी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। उस लड़की ने बताया था कि सितंबर, 2013 में उसकी जॉइनिंग के बाद पचौरी ने उसे ई-मेल, वॉट्सऐप और टेक्स्ट मेसेज के जरिए प्रताड़ित किया और उसके मना करने के बावजूद यह सब जारी रखा। पचौरी ने इन आरोपों को नकार दिया था।

Loading...

फरवरी में TERI की एक अन्य महिला कर्मचारी ने पचौरी पर 2003 से 2004 के बीच यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। इस महीने की शुरुआत में पुलिस ने पचौरी को शोधकर्ता का पीछा करने और उसे धमकी देने का आरोपी बनाया था।

बीते साल केस दर्ज होने के बाद पचौरी ने IPCC के पद से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, TERI की अंतरिम कमिटी द्वारा जांच में दोषी पाए जाने के बावजूद वह इस संस्था में अपने पद पर बने रहे, जिसकी काफी आलोचना की हुई।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *