Tuesday , November 24 2020
Breaking News

लाहौर: 20 साल के आत्मघाती हमलावर ने लीं 70 जानें, 300 जख्मी

kills-70लाहौर। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की राजधानी लाहौर में ईस्टर का उत्सव मनाए जाने के दौरान एक भीड़-भाड़ वाले पार्क में एक आत्मघाती हमलावर ने धमाका किया जिसमें महिलाओं और बच्चों समेत कम से कम 70 लोग मारे गए और 300 से ज्यादा लोग जख्मी हुए। आत्मघाती हमलावर पाकिस्तानी तालिबान का सदस्य था। शहर में इकबाल कस्बा इलाके के गुलशन-ए-इकबाल पार्क में ईसाइयों समेत बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे तभी शाम छह बजकर चालीस मिनट पर ब्लास्ट हुआ।

यह भयानक आत्मघाती हमला तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) से जुड़े एक समूह जमातुल अहरार नामक आत्मघाती हमलावर ने किया। उसकी उम्र 20 साल के आसपास रही होगी। समूह ने चारसादा अदालत में हुए विस्फोट सहित पहले भी कई बम विस्फोटों की जिम्मेदारी ली है। उनका कहना है कि वे पंजाब के पूर्व गवर्नर सलमान तासीर के हत्यारे मुमताज कादरी को दी गई फांसी का बदला था।

लाहौर के जिला समन्वय अधिकारी कैप्टन (रिटायर्ड) मोहम्मद उस्मान ने कहा कि रविवार के विस्फोट के हमलावर का सिर बरामद कर लिया गया है। विस्फोट स्थल पर बॉल-बेयरिंग भी मिले हें। लाहौर के पुलिस डीआईजी हैदर अशरफ ने बताया, ‘यह आत्मघाती हमला था। आत्मघाती हमलावर ने खुद को पार्क के भीतर उड़ा लिया।’ उन्होंने कहा, ‘इसकी पुष्टि हो गई है कि यह आत्मघाती विस्फोट था। विस्फोट में करीब 10 से 15 किलोग्राम विस्फोटक के इस्तेमाल की आशंका है।’

उन्होंने इससे इनकार किया कि हमले में ईसाइयों को निशाना बनाया गया था। उन्होंने कहा, ‘यह कोई ईसाई पार्क नहीं था। मरने वालों में ईसाई भी होंगे।’ पंजाब सरकार के प्रवक्ता ने कहा, ‘मृतकों की संख्या 70 पहुंच गई है। 300 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं।’एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पार्क एक आसान निशाना था। उन्होंने कहा, ‘आतंकवादी बच्चों और अल्पसंख्यक समुदायों को अपने नापाक इरादों को पूरा करने के लिए निशाना बनाते हैं।’

Loading...


धमाका इसी पार्क के पास रविवार शाम में हुआ

पंजाब के मंत्री बिलाल यासीन ने कहा, ‘मृतकों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि घायलों की हालत गंभीर है।’ पंजाब पुलिस ने कहा कि आत्मघाती हमलावर ने खुद को झूलों के पास विस्फोट से उड़ाया। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि आत्मघाती हमलावर का मुख्य निशाना बच्चे थे।’ पार्क लाहौर में पॉश इलाके में स्थित है। इसी शहर में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का घर है। इसे अपेक्षाकृत शांत इलाका माना जाता है।

बचावकर्मियों के साथ मिलकर सेना भी घायलों को हॉस्पिटल पहुंचाने में जुटी हुई है। लाहौर के सभी हॉस्पिटलों में इमर्जेंसी की घोषणा की गई है। घायलों को रक्तदान के लिए लोगों से अपील की गई है। हॉस्पिटल में पीड़ितों में से एक सलीम शाहिद ने कहा, ‘जब जोरदार विस्फोट हुआ मेरे दो बच्चे झूले पर थे। बच्चे और मैं जमीन पर गिर गया। मैं बेहोश हो गया। जब होश में आया तो मैं बच्चों की तलाश में भागा। ऊपर वाले का शुक्र है वे जीवित हैं और उनके माथे पर चोट आई।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *