Breaking News

भारत का सबसे बड़ा मैचः ऐसे होगी जीत पक्की

india auमोहाली। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कल होने वाले लगभग ‘क्वॉर्टर फाइनल’ मुकाबले में भारत को अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करना होगा ताकि टी20 क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में जगह बनाई जा सके। टूर्नमेंट से पहले खिताब की सबसे प्रबल दावेदार मानी जा रही भारतीय टीम अभी तक तीनों मैचों में उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर सकी है। ऑस्ट्रेलिया ने शुक्रवार को पाकिस्तान को हराकर टूर्नमेंट से बाहर कर दिया और यह अच्छी बात है कि किसी टीम को अब रनरेट के बारे में नहीं सोचना है। भारत या ऑस्ट्रेलिया, जो भी जीतेगा सेमीफइनल में जाएगा।

भारत के लिए अब तक हालात भी कठिन रहे हैं। गेंद काफी टर्न ले रही है और टीम इससे जूझती नजर आई है। पहले मैच में उसे न्यू जीलैंड ने 47 रन से हराया, जबकि दूसरे मैच में उसने चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को छह विकेट से हराया। तीसरे मैच में अगर बांग्लादेशी बल्लेबाज गैर-जिम्मेदाराना शॉट्स नहीं खेलते और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दौड़ लगाकर एक स्टम्प आउट नहीं करते तो भारत एक रन से नहीं जीतता। दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया ने मैच-दर-मैच अपने प्रदर्शन में सुधार किया है और पाकिस्तान को करो या मरो के मुकाबले में हराकर अपनी तैयारी पुख्ता कर ली है।

रोहित-शिखर को फॉर्म में आना होगा
जेम्स फॉकनर और शेन वॉटसन का मानना है कि भारत को उसकी सरजमीं पर खेलना कड़ी चुनौती है, लेकिन मेजबान टीम को भी पता है कि उसकी राह आसान नहीं है। भारत ने हालांकि जनवरी में ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर तीन मैचों की सीरीज में हराया था। उस समय हालांकि टीम अलग थी, लेकिन यह मुकाबला भी काफी रोमांचक रहेगा। भारत के स्टार बल्लेबाज अभी तक अपनी चमक नहीं बिखेर सके हैं। रोहित शर्मा और शिखर धवन से आक्रामक पारियों का इंतजार है। स्टार बल्लेबाज विराट कोहली पर काफी हद तक दारोमदार होगा, लेकिन बाकियों को भी उम्दा प्रदर्शन करना होगा।

युवराज को बनना होगा महाराज
सुरेश रैना ने बांग्लादेश के खिलाफ 30 रन बनाए, लेकिन उन्हें और युवराज सिंह को अपनी क्षमता के अनुरूप खेलना होगा। युवराज पर अपने घरेलू मैदान पर खेलने का अतिरिक्त दबाव होगा। गेंदबाजों, खासकर आर अश्विन और रविंद्र जडेजा ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है। बांग्लादेश के खिलाफ जसप्रीत बुमरा और हार्दिक पंड्या ने भी अच्छी गेंदबाजी की। मोहाली की पिच से ज्यादा टर्न नहीं मिलेगी, लेकिन भारतीय स्पिनर रविवार के मैच में अहम भूमिका निभाएंगे। न्यू जीलैंड के खिलाफ फिरकी के जाल में फंसे भारतीय बल्लेबाजों को एडम जाम्पा का सामना करना होगा, जिसने पिछले दो मैचों में अहम विकेट लेकर कप्तान स्टीवन स्मिथ का भरोसा जीता है।

Loading...

फील्डिंग में चुस्ती लानी होगी
बांग्लादेश के खिलाफ भारत की फील्डिंग भी उतनी चुस्त नहीं थी और इसमें सुधार जरूरी है। उधर, पाकिस्तान को हराने के बाद ऑस्ट्रेलिया के हौसले बुलंद है। ओपनर बैट्समन उस्मान ख्वाजा बेहतरीन फॉर्म में हैं, जबकि स्मिथ और शेन वॉटसन ने भी शुक्रवार को अच्छा प्रदर्शन किया। वे एक मैच यहां खेल चुके हैं और हालात के अनुकूल खुद को ढाल लिया है।


कौन करेगा ओपनिंग
यह देखना होगा कि रविवार को ऑस्ट्रेलिया के लिए पारी का आगाज कौन करता है। ख्वाजा और वॉटसन ने पहले दो मैचों में पारी की शुरुआत की। पाकिस्तान के खिलाफ ख्वाजा के साथ आरोन फिंच उतरे थे। खतरनाक डेविड वॉर्नर को नीचे उतारने की रणनीति अभी तक ऑस्ट्रेलिया के लिए कारगर साबित नहीं हुई है। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के मैच में मोहाली में गेंद उतना टर्न नहीं ले रही थी, ऐसे में अचानक ही टीम इंडिया के खिलाड़ी बेहतरीन खेलकर पासा पलट सकते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *