Tuesday , November 24 2020
Breaking News

प्यार ठुकराया तो वॉलीबॉल प्लेयर को सरेआम मैदान में मार डाला

bengalबारासत (पश्चिम बंगाल)। राष्ट्रीय स्तर की वॉलीबॉल खिलाड़ी संगीता ने प्यार कबूल नहीं किया तो उनके एक सीनियर ने मैदान में ही बाकी खिलाड़ियों की मौजूदगी मे बेरहमी से हत्या कर दी। शुक्रवार को 25 वॉलीबॉल प्लेयर और तीन कोच उस वक्त हक्के-बक्के रह गए जब संगीता बेतहाशा उनकी तरफ दौड़ी और हमलावर उसके पीछे छूरा लेकर दौड़ रहा था।
संगीता के सिर और गले में छूरा घोंपा गया था और काफी मात्रा में खून बहने की वजह से मैदान पर ही उनकी मौत हो गई। उन्हें बचाने की कोशिश करने वाले एक कोच पर भी आरोपी सुब्रत सिन्हा (20 साल) हमला करके भाग गया। पुलिस का मानना है कि सुब्रत, संगीता को जबरदस्ती अपने साथ रिलेशनशिप में आने के लिए कह रहा था और उसके मना करने पर उसने उसकी हत्या कर दी। संगीता बारासत के गर्ल्स हाई स्कूल में नौवीं क्लास की छात्रा थीं। वह दो बार अंडर-14 चैंपियनशिप में पश्चिम बंगाल का प्रतिनिधित्व कर चुकी थीं।

पुलिस और एक चश्मदीद ने कहा, ‘नतुनपुकुर वॉलीबॉल असोसिएशन में कड़ी मेहनत वाले कोचिंग सेशन के बाद शाम साढ़े चार बजे उसने ब्रेक लिया। थोड़ी देर बाद वहां सुब्रत आ गया।’ कोच स्वपन दास ने बताया, ‘तकरीबन 4.40 बजे संगीता एक कुर्सी पर बैठी हुई थी, तभी सुब्रत वहां आ गया। उसने संगीता को बुलाया लेकिन उसने उस पर ध्यान नहीं दिया। अचानक सुब्रत उसकी ओर दौड़ा और उसे धमकी देने लगा। संगीता ने विरोध किया और जल्दी ही यह तीखी बहस में बदल गया। हमने उन्हें शांत करने की कोशिश की, लेकिन वे वहां से चले गए और झगड़ा करते ही रहे। अचानक मैंने संगीता की चीख सुनी और देखा कि सुब्रत चाकू लेकर उसकी तरफ दौड़ रहा है।’ कोच स्वपन दास सुब्रत की तरफ दौड़े और उसका रास्ता ब्लॉक करने की कोशिश की।

कोच ने रोते हुए बताया, ‘मैंने सुब्रत पर अपनी कुर्सी फेंकी, लेकिन उसने मेरे हाथ में चाकू मारा और संगीता का पीछा करता रहा। मैदान में मौजूद बाकी लोगों ने भी उसे पकड़ने की कोशिश की लेकिन उसने पहले ही संगीता को पकड़ लिया था और उस पर बार-बार चाकू से हमला कर रहा था। हम महज 20 फीट की दूरी पर थे, लेकिन वक्त पर पहुंच नहीं पाए।’ संगीता नेट के अंदर गिरी और गंभीर चोटों की वजह से कुछ सेकंड के अंदर ही उसकी मौत हो गई। उसके साथियों ने सुब्रत को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन उसने किसी पागल की तरह उनकी ओर चाकू लहराया और भाग गया।

Loading...

संगीता को बारासत के जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। संगीता के कोच और पड़ोसियों ने कहा कि सादगी और व्यवहार की वजह से सब संगीता को प्यार करते थे। मैदान में मौजूद दूसरे कोच संतन हजारा ने कहा, ‘संगीता में एक अच्छा वॉलीबॉल प्लेयर बनने की अच्छी संभावना थी और वह कड़ी मेहनत करती थी। पिछले साल तमिलनाडु में हुई चैंपियनशिप में उसने उम्दा प्रदर्शन किया था और अगले इंटर-स्टेट टूर्नमेंट की तैयारी कर रही थी। हमें भरोसा ही नहीं होता कि वह इस दुनिया में नहीं रही।’

संगीता के परिवार का कहना है कि सुब्रत श्यामनगर का रहने वाला और वह संगीता से लगभग एक साल पहले मिला था। एक रिश्तेदार ने बताया, ‘उसने संगीता पर अपने साथ रिलेशनशिप में आने का दबाव बनाया, वह उसे लगातार परेशान करता रहा लेकिन संगीता ने हर बार उसका प्रस्ताव ठुकरा दिया। उसने हमें बताया था कि उसने अपने कोचों से भी इस बारे में शिकायत की है। लेकिन हम यह सोच भी नहीं सकते के ठुकराए जाने की वजह से उसने संगीता की हत्या कर दी।’ अडिशनल एसपी तरुण हलदार ने कहा कि पुलिस टीम सुब्रत को ढूंढ रही है और इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही कि क्या अफेयर पर विवाद ही इस हत्या की वजह बना।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *