Breaking News

मुफ्ती मोहम्मद सईद की आखिरी इच्छा, जो रह गई अधूरी

mufti-tajआगरा। जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद का गुरुवार को दिल्ली में निधन हो गया। मार्च 2015 में बीजेपी के साथ गठबंधन कर 12 वें मुख्यमंत्री के रूप में मुफ्ती चार नवम्बर, 2015 को आगरा आए थे। उन्होंने ताज का दीदार किया। वे एक अधूरी इच्छा के साथ दुनिया से विदा हो गए।
ताज का दोबारा दीदार करना चाहते थे
जम्मू कश्मीर की सियासत के साथ केन्द्र की राजनीति में सक्रिय हुए पीडीपी के संरक्षक मुफ्ती मोहम्मद सईद परिवार के साथ आगरा आए थे। यहां पर उन्होंने संगमररी इमारत ताज का दीदार किया। वे ताज की सुंदरता से बेहद प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि सुना था, लेकिन जब ताज को देखा, तो कल्पना से अधिक सुंदरता देखने को मिली। उन्होंने अवसर मिलने पर दोबारा ताज का दीदार करने के लिए आगरा आने की इच्छा भी जाहिर की थी। उनकी यह इच्छा अधूरी रह गई।
प्रधानमंत्री के बारे में ऐसे विचार थे
ताजमहल पर पत्रकारों द्वारा उनसे साहित्यकारों द्वारा लौटाए जाने वाले पुरस्कारों पर सवाल किया, तो उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के बारे में अच्छे शब्द बोलना चाहूंगा। वे तरक्की को तवज्जो देते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि कश्मीर के विकास में पीएम से आठ माह के संबंध पर अच्छा विजन रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सबको साथ लेकर चलने वाले हैं। बाकी कुछ लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें उनके विजन को समझने में वक्त लगता है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *