Thursday , November 26 2020
Breaking News

ब्रसल्ज हमले की ‘तस्वीर’ बनीं मुंबई की निधि

injuredमुंबई। ब्रसल्ज हमले में घायल हुए जेट एयरवेज के क्रू मेंबर अमित मोटवानी और निधि चापेकर मुंबई के खार और अंधेरी के रहने वाले हैं। बेल्जियम की राजधानी को हिला देने वाले इन धमाकों की सबसे चर्चित तस्वीर में निधि चापेकर बदहवास हालत में दिख रही हैं। उनके परिवार ने उनसे संपर्क करने की बहुत कोशिश की, लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ। उन्हें केवल इतना पता था कि दोनों का इलाज बेल्जियम की राजधानी के एक अस्पताल में हो रहा है। उधर, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि हमले में घायल दोनों भारतीय रिकवर कर रहे हैं।

मुंबई के खार के रहने वाले अमित और अंधेरी की निधि को प्लेन से सबसे आखिर में उतारा गया था। जब वे एयरपोर्ट के बाहर अपने सहयोगियों को ढूंढ रहे थे, तब वहां दो जबर्दस्त धमाके हुए। इनमें से एक एयरपोर्ट के चेक-इन हॉल में हुआ था। अगले कुछ मिनटों में वहां हर तरफ खून और क्षत-विक्षत पड़े शवों का मंजर था।

शुरुआत में यह जानकारी मिली थी कि अमित के ऐंकल में फ्रैक्चर है और आंख में भी चोटे आई हैं, जबकि निधि को काफी चोटें आई थीं।

Loading...


एक फैमिली फोटो में अपने परिवार के साथ निधि

निधि के देवर निलेश ने कहा, ‘हमें कोई जानकारी नहीं है। हमें सिर्फ यह पता है कि वह घायल है। कितनी घायल है और वह होश में है कि नहीं, इसका कोई आइडिया हमें नहीं है। यह जानकारी नहीं होने से परिवार काफी गुस्से में है। हम एयरलाइन के अधिकारियों से संपर्क में हैं। हम निधि के सहयोगियों से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं। किसी को नहीं पता कि वहां असल में क्या हुआ है।’

अमित के घर में भी कुछ ऐसी ही स्थिति है। उनके भाई सचिन ने मीडिया से अपील की कि वह उन्हें अकेला छोड़ दे। उनके एक पारिवारिक मित्र ने कहा, ‘इस अनिश्चितता से परिवार काफी दुखी है। किसी को नहीं पता कि अमित सुरक्षित है या नहीं।’

मंगलवार को फ्लाइट नंबर 9W 228 के क्रू ने उड़ान भरी थी। निधि को अपने क्रू को नेवार्क-बाउंड पर जॉइन करना था। उनके एक रिश्तेदार ने कहा, ‘टेलिविजन पर ब्रसल्ज में भारतीय दूतावास का नंबर दिखाए जाने के बाद हमने उनसे संपर्क किया, लेकिन अधिकारियों के पास कोई जानकारी नहीं थी। हमें बताया गया कि पूरा शहर बंद कर दिया गया था।’

इस बीच जेट एयरवेज के एक प्रवक्ता ने बताया कि विमान के दो क्रू मेंबर को मेडिकल केयर दी जा रही है। उन्होंने कहा, ‘हम भारतीय दूतावास के साथ काम कर रहे हैं और बेल्जियम में भारत के राजदूत से संपर्क में हैं।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *