Wednesday , November 25 2020
Breaking News

खुलेआम बीच सड़क पर प्रॉपर्टी डीलर को मारी गोली

murder20लखनऊ। नीलमथा में शनिवार सुबह बाइक सवार बेखौफ बदमाशों ने सरेराह प्रॉपर्टी डीलर को गोली मार दी। फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास के लोग दौड़े, लेकिन बदमाश असलहा लहराते हुए भाग गए। ताबड़तोड़ छह राउंड फायरिंग में प्रॉपर्टी डीलर के सीने, पेट और जांघ में तीन गोलियां लगीं। वारदात घर से महज 20 मीटर दूर होने के चलते प्रॉपर्टी डीलर खून से लथपथ होने के बावजूद किसी तरह बाइक चलाकर घर तक पहुंचा। उसे ट्रॉमा सेंटर में भर्ती करवाया गया है।

दुर्गापुरी कॉलोनी निवासी प्रॉपर्टी डीलर दिनेश पांडेय का इलाके में ही ऑफिस है। परिवार के अनुसार शनिवार को बच्चों के स्कूल में अभिभावक मीटिंग थी। सुबह करीब 9 बजे दिनेश बाइक लेकर घर से निकले। करीब 20 मीटर दूर मदर टेरेसा स्कूल तिराहे के पास पहुंचे ही थे कि पीछे से आए बाइक सवार बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बाइक पर तीन बदमाश थे और उनमें से एक फायरिंग कर रहा था।

गोली लगते ही दिनेश बाइक समेत गिर पड़े। बीच सड़क पर फायरिंग के चलते हड़कंप मच गया। लोगों को जुटता देख हमलावर असलहा लहराते हुए भाग निकले। सीने के नीचे बाईं तरफ, पेट और जांघ में गोली लगने के बावजूद दिनेश ने किसी तरह बाइक उठाई और घर पहुंचे। लॉन में गाड़ी धो रहे बड़े भाई शिव प्रताप ने खून से लथपथ दिनेश को देखते ही शोर मचाया। आनन-फानन परिवार के लोग पास के अस्पताल ले गए। इस बीच सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने दिनेश को ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। तीन घंटे के ऑपरेशन के बाद तीनों गोलियां निकाली जा सकीं। डॉक्टरों के अनुसार अभी हालत नाजुक बनी हुई है।

रेकी के बाद अंजाम दी वारदात

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक तीनों बदमाश बिना हेलमट के थे और चेहरा भी नहीं ढका था। दिनेश ने बताया कि हमलावरों में एक युवक को कई बार नीलमथा में देखा था। घरवालों और पीड़ित से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस किसी स्थानीय बदमाश का हाथ होने का अंदेशा जता रही है। माना जा रहा है कि साजिश रचने के बाद लंबे समय तक रेकी के बाद वारदात की गई। उधर, देर शाम तक मामले की तहरीर नहीं दी गई थी।

Loading...

पुलिस मान रही लेनदेन का विवाद

वारदात के पीछे लेनदेन का विवाद माना जा रहा है। उधर, दिनेश की हालत खतरे के बाहर बताई जा रही है। पुलिस का कहना है कि वारदात की वजह पीड़ित ही बता सकेगा। मूलरूप से प्रतापगढ़ निवासी दिनेश ने प्रॉपर्टी के धंधे से बेहद कम समय में अच्छी रकम कमा ली थी। सबसे बड़े भाई संतोष खुफिया विभाग में तैनात हैं। दूसरे बड़े भाई शिव प्रसाद को पिता की जगह सचिवालय में मृतक आश्रित कोटे के तहत नौकरी मिली है, जबकि तीसरा भाई मनीष रेलवे में गैंगमैन है। दुर्गापुरी स्थिति मकान में सभी भाइयों का संयुक्त परिवार है।

पुलिस के मुताबिक करीब पांच साल पहले दिनेश ने प्रॉपर्टी के धंधे में कदम रखा और देखते ही देखते अपना रसूख कायम कर लिया। व्यवसाय बढ़ने के साथ पांच पार्टनर भी बन गए। इसके बाद भव्या इंटरप्राइजेज के नाम से फर्म बनाकर जमीन की खरीद-फरोख्त के साथ बिल्डिंग बनाने का काम भी शुरू कर दिया। बताया जा रहा है कि पांचों हिस्सेदारों में दिनेश की स्थिति सबसे मजबूत थी। शहर में कई जगह पत्नी रत्ना व खुद के नाम से प्लॉट लेने के साथ ही बैंक में भी मोटी रकम जमा है।

दिनेश का पांच साल का बेटा दिव्यांश और तीन साल की बेटी परी है। वहीं, कुछ समय पहले ही दिनेश ने घर के पास ही एक मकान बनाने का ठेका लिया था। जानकारी के अनुसार इसी को लेकर पार्टनर से लेनदेन का कुछ विवाद हो गया था। पुलिस फिलहाल इसे ही वजह मानकर छानबीन कर रही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *