Sunday , December 6 2020
Breaking News

विपक्ष ने कहा खोखला बजट, BJP ने की तारीफ

pd logमुंबई। बीजेपी सरकार का दूसरा बजट पेश करने वाले वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार को अपनों से तारीफ मिल रही है, तो वहीं विपक्ष ने बजट को खोखला बताया है। विपक्ष के नेताओं ने इसे महंगाई बढ़ाने वाल बजट करार देते हुए दिशाहीन करार दिया है। विपक्ष का कहना है कि इससे किसानों की आत्महत्या नहीं रुकेगी और न ही राज्य की आम जनता का कोई भला होगा। उद्योगपतियों की सरकार कही जाने वाली इस सरकार ने उद्योगपतियों को प्रोत्साहन देने के लिए भी कुछ नहीं किया।

महाराष्ट्र कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व सांसद अशोक चव्हाण कहते हैं वित्तमंत्री का बजट केवल सपने दिखाने वाले बजट है, सीधी-साधी सरल जनता को भ्रमित करने वाला बजट है। पिछले बजट में सरकार ने जितना पैसा खर्च करने के लिए रखा था, उसमें महज 46 से 47 फीसद ही खर्च किया। जनता पर टैक्स का नया बोझ डाल दिया है और कर्ज का बोझ बढ़ा दिया है। आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार ने कोई नया स्रोत नहीं खोजा है। उन्होंने कहा कि यह बजट राज्य की प्रगति को प्रभावित करेगा।

विधान परिषद में विरोधी पक्ष नेता धनंजय मुंडे ने बजट को महंगाई बढ़ाने वाला बजट करार दिया। उन्होंने बताया कि यह बजट आंकड़ों की बाजीगरी है। वित्तमंत्री ने किसानों को 25,000 करोड़ रुपये देने की घोषणा की, परंतु यह पैसा कहां दिया है यह नहीं बताते। उन्होंने कहा कि इस बजट से राज्य पर कर्ज का बोझ बढ़ेगा और राज्य विकास में पीछे चला जाएगा। किसानों की कर्जमाफी के लिए सरकार ने बजट में कोई रकम नहीं रखी है।

राज्य के कृषि व राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे ने बजट को विकास की नई राह दिखाने वाला करार दिया है। किसानों के लिए 25,000 करोड़ रुपये दिया है। उन्होंने कहा कि इससे पहले इतनी बड़ी रकम किसानों के लिए किसी सरकार ने नहीं दी। इससे किसानों की आत्महत्या रुकेगी। राज्य भयानक सूखे की दौर से गुजर रहा है इसके बावजूद भी 8 फीसद विकास दर बड़ी बात है, निश्चित ही इस साल का बजट राज्य को नई दिशा देगी।

Loading...

राज्य पूर्व वित्तमंत्री व विधान सभा में एनसीपी के गुट नेता जयंत पाटील ने कहा कि यह दिशाहीन बजट है। यह समाज और जनता को फंसाने वाला बजट है। किसान, मजदूर, उद्योगपति सहित अन्य घटकों को फंसाने का काम वित्तमंत्री ने इस बजट के माध्यम से किया है। किसानों के लिए 25,000 करोड़ रुपये देने की घोषणा की, परंतु यह रकम बजट के साथ तालमेल नहीं खाता। राज्य कर्ज के बोझ तले दबा जा रहा है। आय के स्रोत कम हुआ है इसलिए यह सरकार कर्ज पर चलेगी।

मुंबई बीजेपी के अध्यक्ष आशीष शेलार ने वित्तमंत्री के बजट की सराहना करते हुए दावा किया कि इससे किसानों को मजबूत आधार मिलेगा। मुंबई के मेट्रो- 3 के लिए 90 करोड़ रुपये और स्मार्ट शहर योजना सहित फायर ब्रिगेड को आधुनिक रूप देने, सीसीटीवी लगाने, ससून डॉक का विकास करने, महिला यात्रियों के लिए 300 तेजस्विनी बस देने की घोषणा की है। एलईडी लाइट से टैक्स कम की है। आंगणवाडी सेविका और स्वतंत्रता सेनानियों की मदद, पुलिस के लिए घर बनाने जैसे अन्य उपाय बजट में किया है।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम का कहना है कि सरकार ने सिर्फ योजनाओं की घोषणा की है। राज्य पर कर्ज का बोझ बढ़ गया है। करीब 33,000 करोड़ बोझ बढ़ा है। उन्होंने कहा, ‘मेरी मांग है कि सरकार कर्ज पर श्वेत पत्रिका जारी करें। बीजेपी के शासन में कृषि उपज में 22 फीसद की गिरावट हुई है। चुनाव में इन्होंने कृषि क्षेत्र में डबल ग्रोथ का वादा किया था और हो रहा है नकारात्मक ग्रोथ। डेढ़ साल की सरकार में महज 3 फीसद योजनाओं को आकार मिला जबकि 97 फीसद अभी भी कागज पर हैं।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *