Breaking News

‘दिलचस्प बातें’ कर किया ब्लैकमेल, लाखों ठगे

pd logलखनऊ।  शहर की प्रतिष्ठित बेकरी के मालिक के मोबाइल फोन पर एक मेसेज आया। मेसेज भेजने वाली बबली ने उनसे खाली होने पर ‘दिलचस्प बातें’ करने की गुजारिश की। वह झांसे में आ गए और बातें करने लगे। बबली ने उनकी बातें रिकॉर्ड कर लीं। उसके बाद बबली ने महिला थाने की एसओ और उसके पति बंटी ने इंस्पेक्टर चौक के नाम पर बेकरी मालिक से 1.4 व 2.5 लाख रुपये वसूल लिए। लालाच और बढ़ा तो बंटी ने खुद को एक न्यूज चैनल का संपादक बताते हुए फोन किया और रिकॉर्डिंग लाइव करने की धमकी देकर पांच लाख रुपये मांगने लगा।
आखिरकार बेकरी मालिक कैसरबाग कोतवाली पहुंचे और केस दर्ज करवाया। क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को बंटी-बबली को दबोच लिया। दोनों अब तक दर्जनों लोगों को फरेबी बातों के जाल में फंसाकर लाखों रुपये ठग चुके हैं। जालसाजों ने अपना नाम कोलकाता के रामनगर निवासी सुमित मेहरा उर्फ बंटी और मध्य प्रदेश के भिंडवारा प्रतापपुर निवासी दीपा मेहरा उर्फ बबली बताया है। लखनऊ में सुमित ठाकुरगंज के राम नगर और दीपा ने गुडंबा के कुर्मांचल नगर में किराए पर कमरा ले रखा है।

एएसपी क्राइम डॉ संजय कुमार ने बताया कि दोनों के पास से 20,500 रुपये, दो मोबाइल फोन और एक बाइक मिली है। सुमित आठवीं पास है जबकि दीपा ने एलयू से ग्रैजुएशन किया है। दोनों की मुलाकात बबली की सहेली के रिसेप्शन में हुई और मोबाइल की चैटिंग से वे इतने करीब आए कि प्रेम विवाह कर लिया था।

ऐसे ठगा गया बेकरी मालिक
बबली ने बेकरी मालिक को दूसरे नंबर से फोन करके धमकाया। उसने कहा कि एक लड़की ने उसके पास शिकायत की है कि आप उससे फोन पर अश्लील बातें करते हैं। मामला रफादफा करवाने के लिए उनसे 1,40,000 रुपये अपने अकाउंट में ट्रांसफर करवा लिए। इसके बाद बंटी ने खुद को इंस्पेक्टर चौक, चड्ढा बताकर कॉल किया और शिकायत पर कार्रवाई करने की बात कहकर उसे धमकाया। उसके बाद खुद ही इंस्पेक्टर का अर्दली बनकर गया और 2,50,000 रुपये वसूल लिए। फिर बंटी ने तीसरा नंबर इस्तेमाल कर न्यूज चैनल का संपादक बन कर वसूली करने की कोशिश की।

Loading...

नगर निगम कर्मी और व्यापारी को भी ठगा
एएसपी क्राइम ने बताया कि इन दोनों ने ऐसे ही नगर निगम के एक कर्मचारी और आलमबाग के एक व्यापारी को भी ठगा है। इसके अलावा दोनों इलाहाबाद, वाराणसी, कानपुर और प्रतापगढ़ समेत कई जिलों में लोगों को अपने जाल में फंसा चुके हैं।

सप्रू मार्ग के अपार्टमेंट में चल रहा रैकेट
बंटी-बबली ने बताया कि उन्होंने ठगी का फंडा सप्रू मार्ग के एक अपार्टमेंट के बेसमेंट में बैठने वाले युवक से सीखा है। सुमित ने बताया कि बेसमेंट में एक व्यक्ति ने बिना नाम का ऑफिस खोल रखा है। वहां रोज लड़कियां आती हैं। वह उन लड़कियों को बिना आईडी के बीएसएनएल के सिमकार्ड देकर मेसेज भिजवाता है और ठगी करवाता है। वह हर लड़की को इस काम के लिए 3500 रुपये मासिक वेतन भी देता था। दीपा भी वहां जाती थी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *