Wednesday , November 25 2020
Breaking News

इंस्पेक्टर अनिल कुमार की हत्या की सीबीआई जांच की संस्तुति

anil-kumarलखनऊ। उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में इंस्पेक्टर अनिल कुमार की हत्या की अब सीबीआई जांच होगा। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले की संस्तुति केंद्र सरकार से करने के साथ ही शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी को ओएसडी के पद पर नियुक्त करने का फैसला किया है। निलंबित चल रहे इंस्पेक्टर अनिल कुमार को 19 नवंबर को गोली मार दी गई थी। जिसमें उनकी मौत हो गई थी।

प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रतापगढ़ में इंस्पेक्टर अनिल कुमार की हत्या के मामले की सीबीआई जांच कराने का फैसला किया है। इस संबंध की ओर से सीबीआई जांच के लिए केंद्र सरकार को पत्र भेजा जा रहा है। गृह विभाग के अधिकारी सीबीआई जांच के लिए पत्र लिखने की तैयारी में जुट गए हैं।

मूलत: फैजाबाद के इंस्पेक्टर अनिल कुमार प्रतापगढ़ में तैनात थे। मंत्री अवधेश प्रसाद व पूर्व मंत्री आनंद सेन के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने आज मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की। इसमें दिवंगत अनिल कुमार के भाई डॉ. राजाराम, विनोद कुमार व भतीजा धीरेंद्र के अलावा पत्नी आरती व उसके पिता सतीश चंद्र शामिल थे। परिवार वालों ने हत्याकांड की निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई से जांच कराने की मांग की। इस पर सीएम ने उनकी यह मांग मान ली।

Loading...

पत्नी आरती को सरकारी नौकरी व पूरे परिवार को सुरक्षा प्रदान करने की मांग भी मंजूर कर ली। प्रतापगढ़ में इंस्पेक्टर अनिल कुमार की रहस्यमय हालात में हत्या कर दी गई थी। सीएम मृतक आश्रितों को 20 लाख रुपए की सरकारी सहायता देने का ऐलान पहले ही कर चुके हैं। परिवार वालों ने दो लोगों को सरकारी नौकरी की मांग की है। अनिल कुमार की हत्या में वहां तैनात एक इंस्पेक्टर बलिकरण मिश्रा से भी एसटीएफ ने पूछताछ की थी। आज परिवारीजनों ने मुख्यमंत्री से शिकायत में वहां के एसपी की मिलीभगत से हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है। इसी के साथ एसपी और इंस्पेक्टर पर कद्दावर नेता के इशारे पर काम करने के आरोप हैं। इन्हीं कारणों के चलते परिवारीजनों ने हत्या की सीबीआई जांच की मांग की है।

VIDEO : Kiku
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *