Saturday , December 5 2020
Breaking News

पेशावर की बाचा खान यूनिवर्सिटी में बड़ा आतंकी हमला, 25 लोगों की मौत

pak uniपेशावर। उत्तर-पश्चिम पाकिस्तान के अशांत खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने प्रतिष्ठित बाचा खान यूनिवर्सिटी में घुसकर छात्रों और शिक्षकों पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें कम-से-कम 25 लोगों की मौत हो गई और करीब 50 अन्य लोग घायल हो गए। हमले की खबर के बाद के सभी पेशावर और आसपास के अस्पतालों में आपात स्थिति की घोषणा कर दी गई है। इलाके में सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है।

रिपोर्ट के मुताबिक, चारसद्दा शहर में स्थित बाचा खान यूनिवर्सिटी में गेट पर तैनात दो गार्डों को जख्मी करके सुबह करीब नौ बजे 4 से 10 हथियारबंद आतंकवादी अंदर घुस गए। इलाके में जबर्दस्त गोलीबारी हो रही है और विशिष्ट बल की एक टुकड़ी तैनात कर दी गई है। बाहर निकले प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि आतंकियों ने कई छात्रों के सिर पर गोली मारी है। सुरक्षा बलों की कार्रवाई में चार आतंकवादियों के मारे जाने की भी खबर आ रही है। ।

तालिबान के आतंकवादियो ने दिसंबर 2014 में पेशावर में सेना के एक स्कूल पर हमला कर दिया था। तब उन्होंने 150 से ज्यादा लोगों को मार दिया था, जिनमें ज्यादातर छात्र थे।

चश्मदीदों का दावा है कि यह हमला उस वक्त हुआ, जब यूनिवर्सिटी में खान अब्दुल गफ्फार खान की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में छात्रों मुशायरे में शिरकत कर रहे थे। उनके नाम पर ही यह यूनिवर्सिटी है। उन्हें बाचा खान या बादशाह खान अथवा सीमांत गांधी के नाम से भी जाना जाता है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, आतंकियों ने 50 से 60 छात्रों को गोली मारी है।

सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल असीम सलीम बाजवा ने ट्वीट किया कि यूनिवर्सिटी को खाली कराने के सुरक्षा बलों के अभियान के दौरान चार आतंकवादी मारे गए। उन्होंने ट्वीट किया, ‘निशानेबाजों ने छत पर दो और आतंकवादियों को मार गिराया। अब तक चार आतंकवादी मारे गए हैं। सेना ने पूरी इमारत और छत पर कब्जा कर लिया है।’ उन्होंने कहा, ‘सैन्य बल ब्लॉक दर ब्लॉक के आधार पर यूनिवर्सिटी को खाली करा रहे हैं।’ आतंकवादी अब यूनिवर्सिटी के दो ब्लॉकों में सीमित कर दिए गए हैं।

Loading...

एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार, तकरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। मीडिया रिपोर्टों में खुफिया सूत्रों का हवाला देते हुए कहा गया है कि आतंकवादियों की आयु 18 से 25 वर्ष के बीच है। यूनिवर्सिटी के कुलाधिपति डॉ. फजल रहीम ने बताया कि विश्वविद्यालय के अंदर 3,000 से अधिक छात्र और 600 अतिरिक्त अतिथि हैं, जो खुदाई खिदमतगार खान अब्दुल गफ्फार खान उर्फ बाचा खान की बरसी के मौके पर मुशायरे के लिए यहां आए हैं।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता और प्रांतीय सांसद शौकत यूसुफजई ने कहा कि यूनिवर्सिटी में आज सुबह हुए आतंकवादी हमले में एक प्रफेसर समेत 25 लोगों की मौत हो गई और 50 अन्य लोग घायल हो गए। यूसुफजई ने कहा कि इस हमले को चार से 10 हमलावरों ने अंजाम दिया। उन्होंने कहा, ‘इस प्रकार के कायरतापूर्ण हमले आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में सरकार के इरादों को हिला नहीं सकते।’ सुरक्षा बलों की एक बड़ी टुकडी घटनास्थल पर पहुंच चुकी है और छात्रों को सुरक्षित बाहर निकालने का काम कर रही है।’

इस वक्त आतंकवादियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच भारी गोलीबारी हो रही है। सुरक्षा बलों का दावा है कि घटनास्थल और आस-पास सर्च ऑपरेशन चलाया गया। चार संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार लोगों के पास से पाक आर्मी की यूनिफॉर्म भी बरामद हुई है।

बाचा खान को पाकिस्तान में उदार विचारों का माना जाता था और उनकी याद में यह यूनिवर्सिटी बनाई गई थी। पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार मायद अली का कहना है, ‘आज बाचा खान की पुण्यतिथि के मौके पर अमन मुशायरे का आयोजन किया गया था। बाचा खान के उदार विचारों की वजह से इस यूनिवर्सिटी में लड़के और लड़कियों दोनों के लिए हॉस्टल बनाया गया था।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *