Friday , November 27 2020
Breaking News

कम वक्त में अमीर बनना चाहता था हसनैन

Hasnainमुंबई। ठाणे के कासरवडवली गांव में 14 परिजन की हत्या और खुदकुशी की घटना के दो सप्ताह बाद भी पुलिस घटना के मुख्य कारण तक नहीं पहुंच पाई है। घटना में पुलिस दर्जनभर से अधिक ऐंगल से जांच कर चुकी है, लेकिन वरिष्ठ अधिकारी अभी भी समझ नहीं पा रहे हैं कि आखिरकार हसनैन वरेकर ने परिवार के सभी लोगों की हत्या क्यों की? पुलिस की ताजा जांच में पता चला है कि हसनैन कम वक्त में अमीर बनना चाहता था, और इसी चक्कर में उसने शेयर बाजार में साढ़े चार करोड़ रुपये फंसा दिए थे।

छानबीन और जांच में अब तक जो सामने आया है, उससे एक बात साफ है कि हसनैन वरेकर कम समय में अधिक धन कमाना चाहता था और आर्थिक कंगाली के चलते उसने इतना बड़ा कदम उठाया। पुलिस ने हसनैन को हुए बड़े घाटे की पुष्टि तो की है, लेकिन अभी वह उसे घटना की मुख्य वजह नहीं मान रही है।

हसनैन के डीमैट अकाउंट की छानबीन में उसके द्वारा साढ़े चार करोड़ रुपये शेयर मार्केट में उड़ा देने की बात का खुलासा पहले हुआ है। पुलिस छानबीन में अब यह बात सामने आई है कि हसनैन अपने पिता अनवर वरेकर की तरह प्रॉपर्टी कंसल्टेंट का काम भी करता था। पुलिस ने हसनैन के लैपटॉप की जांच में पाया है कि उसने कई बड़े प्लाट, रियल्टी प्रॉजेक्ट्स, रिजॉर्ट्स, ओपन लैंड से जुड़ी तमाम जानकारी उसमें जमा कर रखी थी। पुलिस के अनुसार, हसनैन उक्त प्रॉपर्टी और लैंड के लिए बड़े कस्टमर की खोज में था।

पुलिस के अनुसार हसनैन जगह की खरीद- फरोख्त में मिडल मैन की भूमिका अदा कर रहा था। हसनैन ने जिन जगहों का जिक्र अपने लैपटॉप में किया है वे ठाणे के अंबरनाथ ,वाडा, बदलापुर, कुडूस, भिवंडी, अंबाडी इत्यादि परिसरों में स्थित हैं। पुलिस उक्त जगह से जुड़े लोगों से पूछताछ कर हसनैन द्वारा की गई डील के बारे में पता लगाने की कोशिश में है। छानबीन से यह भी पता चल रहा है कि हसनैन जल्द से जल्द अधिक रुपये कमाने के दबाव में था।

Loading...

हसनैन ने अपनी मां, मौसी, नाना और बहन से करीब 80 लाख रुपये ले रखे थे। हसनैन सुपारी के एक्सपोर्ट और इम्पोर्ट का बिजनस कुवैत में शुरू करना चाह रहा था। जिसके लिए उसे करीब 35 लाख रुपये की जरूरत थी। पत्नी ,बहन और मां के गहने रख उसने कर्ज लिया था। साढ़े चार करोड़ रुपए शेयर मार्केट में इन्वेस्ट किए था और उसे घाटा हुआ था। इन सब बातों से साफ हो रहा है की हसनैन पूरी तरह से कंगाल हो गया था। करोड़ों की चपत लगने से आर्थिक और मानसिक रूप से टूटे हसनैन ने इस तरह का कदम उठाया होगा।

हसनैन वरेकर द्वारा मौत के घाट उतारे गए सभी की आंतों में क्लोसापाईन नामक नशीला पदार्थ पाया गया है। फॉरेंसिक रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है। शीतपेय में अधिक मात्रा में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाए जाने की पुष्टि हुई है। ठाणे पुलिस ने हसनैन के माता- पिता और पत्नी के अलावा हसनैन की फॉरेंसिक रिपोर्ट मिलने की पुष्टि की है। पुलिस की तरफ से हसनैन के मानसिक उपचार के संबंध में छानबीन की जा रही है। हसनैन की मृत बहन बतुल भी मानसिक रोगी थी और उसका उपचार पुणे के डाक्टर देव कर रहे थे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *