Breaking News

‘आर्ट ऑफ लीविंग’ के कार्यक्रम को नहीं मिली पुलिस की मंजूरी

sriनई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने मंगलवार को राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) को बताया कि आर्ट ऑफ लीविंग फाउंडेशन द्वारा यमुना नदी के किनारे आयोजित किए जाने वाले विश्व संस्कृति महोत्सव को पुलिस और दमकल विभाग से मंजूरी नहीं मिली है। इस महोत्सव को 11 मार्च से शुरू होना है, लेकिन पर्यावरण संबंधी नियमों के कथित उल्लंघन के कारण इसे लेकर विवाद पैदा हो गया है। यमुना जिए अभियान के कार्यकर्ताओं की ओर से इस महोत्सव के खिलाफ राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण में याचिका दाखिल की गई है।

अदालत ने महोत्सव के लिए यमुना नदी के किनारे खड़े किए गए ढांचे को लेकर दिल्ली विकास प्राधिकरण की खिंचाई की थी। दिल्ली सरकार ने अदालत को बताया कि पुलिस और दमकल विभाग की एक टीम मौके का मुआयना करेगी और सुरक्षा मानकों का निरीक्षण करेगी। इस बीच आर्ट ऑफ लीविंग प्रमुख श्री श्री रविशंकर ने महोत्सव की तैयारियां करते समय पर्यावरणीय नियमों का उल्लंघन करने के आरोपों से इनकार किया है।

Loading...

उन्होंने दावा किया कि महोत्सव के लिए एक भी पेड़ को नहीं काटा गया है। आध्यात्मिक गुरु ने कहा कि यमुना को फिर से स्वच्छ और शुद्ध बनाने का मुद्दा उनके दिल के बहुत करीब है और उनके पांच हजार स्वयंसेवियों ने नदी की सफाई में भाग लिया। उन्होंने वादा किया कि महोत्सव के बाद वह और उनकी टीम यमुना के मैदानी भाग को एक संपन्न जैव विविधता वाला पार्क बनाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *