Breaking News

SC में याचिका, आधार जैसे मामले पर सुनवाई का हो LIVE प्रसारण, CJI बोले- देखेंगे

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट पिछले कुछ दिनों से लगातार चर्चा में बना हुआ है. आधार, तीन तलाक, राम मंदिर मामले ने हाल ही में सुर्खियां बटोरी हैं. वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने कोर्ट में याचिका दायर कर अपील की है कि आधार जैसे राष्ट्रीय महत्व वाले मसलों की लाइव स्ट्रीमिंग ( सीधा प्रसारण) किया जाए. इस पर सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा है कि हम देखेंगे.

अपनी याचिका में इंदिरा जयसिंह ने चीफ जस्टिस की बेंच को मेंशन किया है. उन्होंने कहा है कि सभी महत्वपूर्ण मामलों की वीडियो रिकॉर्डिंग हो और लाइव दिखाया जाए. अगर लाइव दिखाना संभव ना हो तो यू-ट्यूब पर वीडियो को बाद में अपलोड किया जाए. इंदिरा जयसिंह ने इस दौरान विदेशी अदालतों का उदाहरण भी दिया. उन्होंने इस मामले की सुनवाई जल्द करने की अपील की है.

गौरतलब है कि आधार की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार से ही सुनवाई शुरू हुई है. बुधवार को शुरू हुई इस सुनवाई में याचिकाकर्ता श्याम दीवान ने बेंच को आधार को अनिवार्य करना नागरिकों के अधिकारों की हत्या बताया था. आपको बता दें कि इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस ए.एम. खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच कर रही है.

याचिकाकर्ता ने क्या दिए तर्क

Loading...

बुधवार को सुनवाई के दौरान श्याम दीवान ने कोर्ट में कहा कि आधार प्रोजेक्ट ही चुनौती के दायरे में है. उन्होंने कहा कि प्रोजेक्ट की कोई  टाइम लिमिट नहीं है. यह एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है. दीवान बोले कि आधार की बायोमैट्र‍िक व्यवस्था में कई खामियां हैं. यह सिस्टम भरोसेमंद नहीं है और यह सिर्फ संभावनाओं के आधार पर चलता है.

अभी क्या होता है?

गौरतलब है कि अभी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई सिर्फ केस से जुड़े लोगों के सामने ही होती है. कोर्ट के आदेश अनुसार ही पत्रकारों या अन्य लोगों को सुनवाई के दौरान कोर्ट रूम में एंट्री मिलती है. अगर कोर्ट इस प्रकार का फैसला देता है तो ये अपने आप में एक ऐतिहासिक कदम होगा. अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में भी सुनवाई का लाइव प्रसारण किया जाता है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *