Breaking News

खुद ही गलत काम कर रहे थे ज्ञान बांचने वाले शत्रुघ्‍न सिन्‍हा

मुंबई। कहते हैं इंसान को दूसरों को नसीहत देने से पहले खुद के गिरेबान में जरुर झांक लेना चाहिए। ये बात आज भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा पर एकदम सटीक बैठती है। अभिनेता से नेता बने शत्रुघ्‍न सिन्‍हा आए दिन अपनी ही पार्टी के नेताओं को ज्ञान दिया करते हैं। वो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हैं तो कभी अमित शाह पर। शत्रुघ्‍न सिन्‍हा भारतीय जनता पार्टी में अपने किरदार को ऐसे पेश करते हैं कि मानों उनसे बेहतर कोई और उनसे ज्ञानी कोई दूसरा शख्‍स है ही नहीं। जो वो कहें वो ही सही। बाकी सब गलत। लेकिन, अब वो खुद ही गलत काम में फंस गए हैं। शत्रुघ्‍न सिन्‍हा बीएमसी के निशाने पर आ गए हैं। जी हां बीएमसी यानी बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने इस बार बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा पर ही शिकंजा कस दिया है। बीएमसी ने सिन्हा के जुहू स्थित आठ मंजिला बंगले के कई अवैध ढांचे को गिरा दिया है।

सबसे खास बात ये है कि बीएमसी ने ये कार्रवाई उस वक्‍त की जब वो खुद घर पर मौजूद थे। दरअसल, शत्रुघ्‍न सिन्‍हा का मुंबई में एक आठ मंजिला बंगला है। उनके इस बंगले का नाम नारायण हैं। जहां पर वो अपने पूरे के पूरे परिवार के साथ रहते हैं। सोनाक्षी सिन्‍हा भी इसी बंगले में रहती हैं। हालांकि अब जब बीएमसी ने उनके बंगले में बने अवैध निर्माण को ढहा दिया है तो शत्रुघ्‍न सिन्‍हा साहब कहते हैं कि उनके घर में मामूली गड़बडि़यां थीं जिसे हटाने के लिए उन्‍होंने बीएससी स्‍टाफ का समर्थन किया। वहीं बीएमसी अफसरों का कहना है कि शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने अपने बंगले की छत पर अवैध रुप से एक टॉयलेट, एक आफिस और पूजा घर बना रखा था। उनके इसी अवैध निर्माण के खिलाफ उन पर कार्रवाई की गई। हालांकि बीएमसी अफसरों ने टॉयलेट और आफिस को तो ढहा दिया लेकिन, पूजा घर को नहीं तोड़ा। उसे अस्‍थायी जगह पर शिफ्ट किया गया है।

बीएमसी अधिकारियों का कहना है कि उन्‍होंने पूजा घर में रखे समान को दूसरे कमरे में रखवा दिया है। इसके साथ ही शत्रुघ्‍न सिन्‍हा से कहा गया है कि वो पूजा घर को हटाएं। बीएमसी अफसरों का कहना है कि इस मामले में जल्‍द ही बीजेपी सांसद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा के खिलाफ नियमों के उल्‍लंघन का केस भी दर्ज किया जाएगा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शत्रुघ्‍न सिन्‍हा को बीएमसी की ओर से पहला नोटिस छह दिसंबर को ही जारी कर दिया गया था। लेकिन, उन्‍होंने अपनी ओर से इस नोटिस पर कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद बीएमसी अफसरों को उनके खिलाफ ये कार्रवाई करनी पड़ी। इस पूरी कार्रवाई पर शत्रुघ्‍न सिन्‍हा की दलील क्‍या है जरा उसे भी सुन लीजिए। नेता जी कहते हैं कि सरकार घर के भीतर टॉयलेट निर्माण को बढ़ावा दे रही है इसलिए हमले छत पर टॉयलेट का निर्माण कराया था। वो भी उन लोगों के लिए जो बिल्डिंग में काम करते हैं।

Loading...

कार्रवाई होने के बाद शत्रुघ्‍न सिन्‍हा कहते हैं कि मुझे बीएमसी की कार्रवाई से कोई आपत्ति नहीं है। पूजा घर को भी अस्‍थायी जगह पर शिफ्ट कर दिया गया है। जल्‍द ही पूजा घर को स्‍थायी जगह पर शिफ्ट किया जाएगा। शत्रुघ्‍न सिन्‍हा का कहना है कि मैं बीएमसी अफसरों की कार्रवाई का पूरा समर्थन कर रहा हूं वो भी उनके काम में बाधा डाले बिना। हालांकि इस दौरान कुछ पत्रकारों ने उनसे ये भी पूछ लिया कि क्‍या आपको बीजेपी के बागी नेता यशवंत सिन्‍हा का साथ देने का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। इस सवाल के जवाब को वो हंसी में टाल गए। दरसअल, शत्रु भारतीय जनता पार्टी के वरिष्‍ठ नेता यशवंत सिन्‍हा की बगावत का समर्थन कर चुके हैं। यशवंत सिन्‍हा ने अकोला में किसानों के लिए रैली की थी। इससे पहले गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान भी यशवंत सिन्‍हा देश की अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्‍त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साध चुके हैं। कई मौकों पर बीजेपी के नेता शत्रुघ्‍न सिन्‍हा भी अपनी ही पार्टी के शत्रु बनते दिखाई पड़े हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *