Breaking News

राहुल गांधी आज प्रशांत किशोर संग करेंगे यूपी चुनाव पर मंथन

Rahul-Prashantलखनऊ। यूपी में कांग्रेस के शीर्ष 40 नेता मिशन 2017 की व्यूहरचना के लिए बुधवार को पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात करेंगे। पार्टी की तरफ से आनन-फानन में बुलाई गई इस बैठक को गोपनीय रखा जा रहा है। इस ही वजह से बैठक कांग्रेस मुख्यालय में न होकर बाहर रखी गई है।

सूत्र बताते हैं कि इस बैठक में 2017 विधान सभा चुनाव के लिए पार्टी को मजबूत करने के तौर तरीकों के अलावा यूपी में गठबंधन की स्थिति पर भी चर्चा हो सकती है। कांग्रेस ने आधिकारिक तौर तो प्रशांत किशोर के बैठक में शामिल होने की बात से इनकार किया है, लेकिन सूत्रों का दावा है कि बुधवार की इस बैठक में यूपी के टॉप नेताओं से ‘पीके’ की मुलाकात होगी।

पिछले दिनों यूपी आए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपी में सरकार बनाने का दावा ठोका था। जानकारों की मानें तो उनके इस दावे के पीछे का कॉन्फिडेंस प्रशांत किशोर हैं। लोक सभा और बिहार चुनाव में सत्ता का ताला खोलने की जुगत जानने वाले प्रशांत के यूपी में कांग्रेस के साथ होने की खबरें काफी समय से चर्चा में थीं। लेकिन बुधवार को उनकी पहली औपचारिक बैठक यूपी कांग्रेस के शीर्ष नेताओं के साथ होगी।

जिन 40 नेताओं को यूपी से बैठक के लिए बुलाया गया है, उनमें यूपी कांग्रेस अध्यक्ष डॉ़ निर्मल खत्री, कांग्रेस की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ़ रीता बहुगुणा जोशी, यूपी विधान सभा में कांग्रेस दल के नेता प्रदीप माथुर, यूपी विधान परिषद में कांग्रेस दल के नेता नसीब पठान, सांसद प्रमोद तिवारी, पीएल पुनिया, पूर्व मंत्री जितिन प्रसाद समेत अन्य शामिल हैं। बताया जा रहा है कि बुधवार को होने वाली बैठक में विधान सभा चुनाव की तैयारियों के लिए प्राथमिक निर्देश और रणनीति के ले-आउट पर बातचीत होगी। कुछ समय तक इसे जमीन पर उतारने का संदेश यूपी के नेताओं को दिया जा सकता है, जिसके बाद अगली बैठक में इसका रिव्यू होगा।

Loading...

इस बैठक का कोई खास अजेंडा सर्कुलेट नहीं किया गया है। हालांकि चुनावी साल होने की वजह से आमंत्रित नेता भी यही कयास लगा रहे हैं कि दिल्ली में चुनाव की तैयारियों को लेकर बातचीत होगी। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ़ जोशी कहती हैं कि चुनाव है तो इस पर बात होगी ही। हालांकि प्रशांत किशोर के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

यूपी कांग्रेस के कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के चेयरमैन सत्यदेव त्रिपाठी ने भी इस तरह की किसी जानकारी से इनकार किया। वह कहते हैं कि जब बुधवार को बैठक होगी तो हर कोई अपने-अपने सुझाव पेश करेगा।

सूत्र बताते हैं कि पहली बार पीके के साथ होने जा रही इस मुलाकात में गठबंधन पर भी चर्चा होगी। हालांकि गठबंधन पर हाल फिलहाल पत्ता नहीं खोला जाएगा। पीके के यूपी में चुनाव प्रबंधन का काम संभालने की बात साफ होने के बाद इस बात के कयास तेज हो गए हैं कि कांग्रेस जेडीयू और आरजेडी समेत अन्य दलों के साथ गठबंधन हो सकता है। सत्यदेव त्रिपाठी कहते हैं, फिलहाल सपा और बीएसपी से गठबंधन होना मुश्किल ही है। संगठन की मंशा फिलहाल अकेले ही चुनाव लड़ने की है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *