Breaking News

विश्वास ने लगाई मोहर, आम आदमी पार्टी का सोशल सेल उन्हें दे रहा धमकियां- गालियां!

नई दिल्ली। सोशल मीडिया में अफवाहों का दौर तेज है। खबरों की मानें तो आम आदमी पार्टी और कुमार विश्वास के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। दोनों पक्ष एक दूसरे पर ट्विटर और सोशल मीडिया के जरिए निशाना साधते नजर आते रहते हैं।

इसी दौरान एक पत्रकार के पैरोडी अकाउंट से दावा किया गया है कि आम आदमी पार्टी के सोशल सेल से कुमार विश्वास को गालियां और धमकी दी जा रही हैं। इस बात पर मोहर तब लग जाती है जब कुमार विश्वास इस ट्वीट को लाइक करते हैं। जी हां, पत्रकार के पैरोडी अकाउंट से किए इस ट्वीट को स्वयं विश्वास ने लाइक किया है।

ट्वीट में लिखा है, ‘ आम आदमी पार्टी में ये क्या हो रहा है पार्टी का सोशल मीडिया हेड का करीबी और सोशल मीडिया का प्रमुख सदस्य, कुमार विश्वास को मारने की धमकी दे रहा है, और शीर्ष नेतृत्व खामोश, ऐसे कैसे पार्टी चलेगी? देखना दिलचस्प होगा क्या कार्यकर्ता आवाज उठा पाते हैं या नहीं।’

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

आम आदमी पार्टी में ये क्या हो रहा है? पार्टी का सोशल मीडिया हेड का करीबी और सोशल मीडिया का प्रमुख सदस्य, कुमार विश्वास को मारने की धमकी दे रहा है, और शीर्ष नेतृत्व खामोश, ऐसे कैसे पार्टी चलेगी? देखना दिलचस्प होगा क्या कार्यकर्ता आवाज उठा पाते हैं या नहीं?

Loading...

 

बता दें कि हाल ही में ‘आप’ ने कुमार विश्वास को राज्यसभा भेजे जाने से इंकार कर दिया था। और ये ऑफर आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम जी राजन को भेजा। जिसके बाद पार्टी के इस प्रस्ताव को राजन ने ठुकरा दिया। जिसके बाद पार्टी के ही कुछ लोग इस बात का विरोध कर रहे हैं कि कुमार विश्वास को पार्टी राज्यसभा क्यों नहीं भेज रही। दुबे अभय नाम से जारी किये गये इस ट्वीट में कुमार विश्वास के खिलाफ भद्दी भद्दी गालियों का इस्तेमाल किया गया है।

विश्वास ने इसी महीने पार्टी की कार्यशैली से असहमति जताई थी। उन्होंने कहा था कि, पार्टी को मूल सिद्धांत स्वराज, नैतिकता और पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की तरफ लौटने की जरूरत है। कुमार के अनुसार,  पार्टी कार्यकर्ता उनके कई सहयोगियों के साथ बातचीत कर रहे हैं, जिन्होंने पार्टी छोड़ दी है और पार्टी द्वारा किए गए किसी भी गलत कार्य के लिए माफी मांगी है। उन्होंने कहा था कि इन लोगों में योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक, आम आदमी पार्टी ने विश्वास को निकालने का फैसला किया था और विश्वास द्वारा उठाया गया यह कदम पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के साथ सौदेबाजी की रणनीति है। सूत्रों का कहना है कि कुमार के विवादास्पद बोल राज्यसभा की सीट पाने के लिए है और वे पार्टी के कार्यकर्ताओं का ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *