Breaking News

हाफिज सईद पर चला डोनाल्ड ट्रम्प का हंटर, पीएम मोदी का फॉर्मूला काम आया

नई दिल्ली। आतंक का आका हाफिज सईद, जो पाकिस्तान में बैठकर दुनियाभर आतंक फैलाने के लिए रोजाना नई नई चाल चलता है। लेकिन अमेरिका और भारत इस बात से अच्छी तरह से वाकिफ हैं कि हाफिज को हल्के में आंकना कितनी बड़ी भूल साबित हो सकती है। अब बताया जा रहा है कि हाफिज की पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग को डोनाल्ड ट्रम्प ने आतंकी संगठनों की लिस्ट में डालने की बात कही है। बताया जा रहा है कि भारत ने ही अमेरिका से अपील की थी कि हाफिज की पार्टी को आतंकी संगठनों की लिस्ट में डाला जाए। अमेरिका इस मामले में भारत के साथ है और इस वजह से ऐलान किया है कि हाफिज की पार्टी को आतंकी संगठनों की लिस्ट में डाला जाएगा। पाकिस्तान के अखबार ‘द डॉन’ ने इस बारे में कई बातें लिखी गई हैं। इस बातों के बारे में भी जानिए।

द डॉन ने लिखा है कि ट्रंप प्रशासन ने पाकिस्तानी आतंकी समूहों को अंतरराष्ट्रीय तौर पर आतंकी संगठन घोषित करने वाली भारत की अर्जी स्वीकार की है। द डॉन के हवाले से खबर है कि 18 और 19 दिसंबर को नई दिल्ली में भारत और अमेरिका के बीच कॉन्फ्रेंस हुई। इस कॉन्फ्रेंस में ही भारत द्वारा ये अपील की गई थी। इस दौरान अमेरिका ने इस बारे में हामी भरी है।  एक्सपर्ट्स का कहना है कि हाफिज के चुनावी मैदान में उतरने की घोषणा के बाद अमेरिका ये कदम उठा रहा है। अमेरिका द्वारा मिल्ली मुस्लिम लीग को आतंकी लिस्ट में शामिल किए जाने की खबर है। ऐसी ही आशंका लाहौर में इसी साल हुए उपचुनाव में जाहिर की गई थी। मिल्ली मुस्लिमी लीग ने इसमें चुनाव लड़ा था और उसे पाकिस्तानी पीपल्स पार्टी से भी ज्यादा वोट मिले थे।

अब खबर आ रही है कि हाफिज 2018 में होने वाले चुनावों में कदम रख सकता है। इसलिए अमेरिका इस बात को लेकर काफी सतर्क भी है। हाल ही में हाफिज को फिर से नजरबंद करने की बात सामने आई है। इससे पहले उसे 3 साल की नजरबंदी से राहत दी गई थी। कोर्ट ने जैसे ही ये आदेश दिया था तो हाफिज ने भारत के खिलाफ जहर उगलना शुरू कर दिया था। खबर है कि हाफिज फिर से नई प्लानिंग कर रहा है। वो अब अपरनी पार्टी मिल्ली मुस्लिम लीग के जरिए पाकिस्तान की सत्ता पर कब्जा करना चाहता है। वैसे भी कहा जाता है कि पाकिस्तान में राजनेता भी आतंकियों द्वारा लिखे हुए भाषण पढ़ते हैं। अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को बार बार चेतावनी दी जाती है कि आतंकियों का समर्थन करना बंद कर दे।

Loading...

इसके बाद भी पाकिस्तान ये मानने को तैयार नहीं है कि उसके मुल्क में आतंकी को पनाह दी जा रही है। हाफिज को लेकर अमेरिका ने साफ साफ कहा है कि, वो एक बड़ा आतंकवादी है। अमेरिका ने पाक को बार बार चेतावनी दी है कि हाफिज को भारत को सौंप दिया जाए। उधर भारत द्वारा लगातार कहा गया है कि पाक आतंकी हाफिज सईद को भारत को सौंपे। लेकिन पाक ये मानने के लिए तैयार नहीं है हाफिज एक आतंकवादी है। भारत में मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज पर बॉर्डर के पार आतंकी कैंप चलाने का भी आरोप है। बताया जा रहा है कि हाफिज बॉर्डर के उस पार आतंकी संगठनों का पाकिस्तान की सेना की मद से चला रहा है। ऐसे में अब डोनाल्ड ट्रम्प की निगाहें एक बार फिर से पाकिस्तान पर हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *