Breaking News

गौ आधारित प्राकृतिक खेती मृदा की उर्वरता को बढ़ाती है: ब्रजेंद्र पाल

लखनऊ। कृषि निदेशालय के सभागार में शनिवार को कृषि मंत्री सूर्य प्रताप साही की अध्यक्षता में गौ आधारित शून्य लागत प्राकृतिक खेती पर लोकभारती ने एक बैठक का आयोजन हुआ। बैठक में प्रदेश के विभिन्न जिलों से किसानों ने भी भाग लिया। बैठक का मुख्य उद्देश्य गौ आधारित प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देना था। इस बैठक में कृषि निदेशालय के अधिकारियों ने भी हिस्सा लिया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए लोकभारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ब्रजेंद्र पाल सिंह ने प्राकृतिक खेती से जुड़े फायदों से सभी को रुबरु कराया। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि गौ आधारित प्राकृतिक खेती करने से मृदा की उर्वरता नष्ट नहीं होती। उन्होंने अपने संबोधन में सभी को खेती के गुर और तकनीक से चिर परिचित कराया।
कृषि मंत्री सूर्य प्रताप साही ने गौ आधारित करने के लिए कृषि विभाग को अपनी खेतीहर जमीनों पर प्राकृतिक कृषि से खेती करने के निर्देश जारी किए। उन्होंने किसानों को इसके महत्व और फायदे सिखाने के लिए एक मॉडल भी निदेशालय को तैयार करने को कहा है।

बजट के आवंटन से मिलेगा बढ़ावा

क़ृषि मंत्री सूर्य प्रताप साही ने प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देने के लिए अगले साल अलग से बजट में जोड़े जाने की बात कही। इससे प्राकृतिक खेती करने वाले किसानों को लाभ मिलेगा और ज्यादा से ज्यादा किसान प्राकृतिक खेती का लाभ उठा सकेंगे। बजट में प्राकृतिक खेती के लिए अलग से आवंटन होने से कृषि निदेशालय भी इस दिशा में बेहतर काम कर सकेगा।

प्रशिक्षण दिलाकर सिखायेंगे गुर

लोकभारती के प्रचार एवं प्रसार प्रमुख शेखर त्रिपाठी ने बताया कि प्राकृतिक कृषि को बढ़ावा देने के लिए दीनदयाल उपाध्याय उन्नत कृषि केंद्रों पर प्रशिक्षण शिविर चलाए जाएंगे। इतना ही नहीं, विश्व मृदा दिवस पर प्रदेश भर में प्राइमरी विद्यालयों में प्रशिक्षण शिविर चलाकर देश के किसानों को इससे जोड़ने का प्रयास किया जाएगा। इस संबंध में कृषि मंत्री ने भी अपनी सहमति जताई है।

Loading...

इस मौके पर लोकभारती संगठन से जुड़े कई पदाधिकारी जिनमें मुख्य रूप से शून्य लागत प्राकृतिक खेती के केंद्रीय समन्वयक गोपाल मोहन उपाध्याय, संपर्क प्रमुख श्रीकृष्ण चौधरी, समन्वयक प्रशिक्षण वर्ग महीप मिश्र के साथ प्रदेश के विभिन्न जिलों से 25 किसान एवं कृषि निदेशालय से निदेशक सोराज सिंह व निदेशक सांख्यिकी डॉ. वीके सिंह, मीडिया प्रभारी डॉ. नवीन सक्सेना, आशीष कुमार समेत दर्जनों अधिकारी व पदाधिकारी मौजूद थे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *