Wednesday , November 25 2020
Breaking News

अवैध ‘होर्डिंगबाज’ नेताओं से वसूले गए 3 लाख 60 हज़ार

bombay-HCमुंबई। अवैध होर्डिंग लगाकर शहर को बदसूरत करने वाले होर्डिंगबाज नेताओं से बॉम्बे हाई कोर्ट ने शुक्रवार को तीन लाख 60 हजार रुपये का जुर्माना वसूला। उल्लेखनीय बात यह रही कि कोर्ट ने यह जुर्माना सीधे वसूलने के बजाए लोकहित के कामों के लिए देने को कहा। इनमें से किसी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में जुर्माना जमा कराया तो किसी ने सूखाग्रस्त किसानों के लिए काम रहे नाना पाटेकर और मकरंद अनासपुरे की संस्था ‘नाम फाउंडेशन’ के खाते में जुर्माने की रकम जमा कराई।

अवैध होर्डिंगबाजी से अपनी राजनीति चमकाने और बड़े नेताओं की चमचागिरी करने वाले नेताओं ने कोर्ट के सामने हाथ जोड़ कर माफी भी मांगी कि वे बिना बीएमसी या सक्षम प्राधिकारी की इजाजत लिए बिना अब आगे से कभी होर्डिंग नहीं लगाएंगे।

कोर्ट में जिरह के दौरान याचिकाकर्ता के वकील और विभिन्न पार्टियों के वकीलों ने एक दूसरे की पार्टी के खिलाफ अवैध होर्डिंग लगाने की शिकायतें की। इस पर कोर्ट ने सभी पार्टियों से कहा कि वे अवैध होर्डिंग लगाने वाले कार्यकर्ताओं के नाम खुद कोर्ट को बताएं ताकि उनके खिलाफ अदालत की अवमानना का मुकदमा शुरू किया जाए। अगर पार्टियां कार्यकर्ताओं के नाम नहीं बताती हैं तो अवैध होर्डिंग लगाए जाने की जिम्मेदारी पार्टियों को खुद लेनी होगी। ऐसे में पार्टियां ही अवमानना की दोषी मानी जाएंगी।

बॉम्बे हाई कोर्ट के जस्टिस ए एस ओक और जस्टिस सी वी भादांग की खंडपीठ मुंबई में अवैध होर्डिंग लगाने वाले राजनीतिक दलों के खिलाफ दायर एक याचिका पर सुनवाई कर रही है। इस खंडपीठ ने गत 18 फरवरी को इन होर्डिंगबाज नेताओं से जुर्माना वसूलने का आदेश जारी किया था। इसी आदेश के बाद नेताओं तीन लाख 60 हजार रुपये कोर्ट के आदेश पर भरना पड़े हैं और बिना शर्त माफी मांगकर कोर्ट को यह भरोसा दिलाना पड़ा है कि वे आगे से अवैध होर्डिंग नहीं लगाएंगे। इस मामले की अगली सुनवाई 9 मार्च को होनी है।

किसने कितना भरा जुर्माना:

1- मुंबई बीजेपी अध्यक्ष और विधायक आशीष शेलार

डेढ़-डेढ़ लाख रुपये के दो और 20,000 रुपये का एक चेक मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा

20,000 रुपये का एक चेक बीएमसी कमिश्नर राहत कोष में जमा

Loading...

2- पराग अलवणी, बीजेपी विधायक

40,000 रुपये सूखा पीड़ित किसानों के लिए नाना पाटेकर के ‘नाम फाउंडेशन’ में जमा

3- सचिन गुर्जर, एमएनएस

25,000 रुपये सूखा पीड़ित किसानों के लिए नाना पाटेकर के ‘नाम फाउंडेशन’ में जमा

4- अन्य दलों के पांच नेता

20-20 हजार रुपये कुल 1 लाख रुपये सूखा पीड़ित किसानों के लिए नाना पाटेकर के ‘नाम फाउंडेशन’ में जमा

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *