Saturday , November 28 2020
Breaking News

परमाणु ताकत की वजह से दक्षिण एशिया में ‘स्थिरता’: पाकिस्तान

moid-and-nawazइस्लामाबाद। अपने परमाणु हथियार भंडार को दक्षिण एशिया में स्थायित्व का कारक करार देते हुए पाकिस्तान ने बुधवार को कहा कि वह पूर्ण प्रतिरोधक क्षमता बनाए रखेगा और अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा के खतरों का प्रभावी जवाब देने के लिए कदम उठाएगा। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता में राष्ट्रीय कमान प्राधिकरण (NCA) की 22 वीं बैठक में परमाणु नियामक ने क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा माहौल की समीक्षा की।

सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया, ‘NCA ने इस क्षेत्र में बढ़ते पारंपरिक एवं रणनीतिक हथियारों के विकास का संज्ञान लिया। उसने इस संदर्भ में शांति एवं सुरक्षा पर प्रतिकूल प्रभावों को लेकर गंभीर चिंता जताई।’ NCA ने राष्ट्रीय सुरक्षा को जबर्दस्त बनाने के लिए सभी संभावित कदम उठाने के लिए अपना संकल्प दोहराया ताकि वह हथियारों की दौड़ में बिना शामिल हुए राष्ट्रीय सुरक्षा पर उत्पन्न खतरों का प्रभावी जवाब दे पाए।

बयान में कहा गया है, ‘यह दोहराते हुए कि परमाणु प्रतिरोधक दक्षिण एशिया में स्थायित्व का कारक है, NCA ने भरोसेमंद न्यूनतम प्रतिरोधक की नीति के तहत पूर्ण प्रतिरोधक बनाए रखने का निश्चय प्रकट किया।’ बुधवार की यह बैठक अगले महीने अमेरिका में होने जा रही परमाणु सुरक्षा सम्मेलन से पहले हुई है। इस बैठक में रक्षा मंत्री, वित्त मंत्री और गृह मंत्री, विदेशी मामालों के सलाहकार, चेयरमैन जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी, सर्विसेज चीफ, डायरेक्टर जनरल स्ट्रैटेजिक प्लासं डिविजन ने हिस्सा लिया।

Loading...

अपनी पिछली बैठक में NCA ने भारत के तेजी से बढ़ते पारंपरिक सैन्य विस्तार और खतरानाक सीमित पारंपरिक युद्ध नीति पर चिंता प्रकट की थी। बुधवार को उसने दक्षिण एशिया में रणनीतिक संयम व्यवस्था की स्थापना तथा सभी लंबित मुद्दों के हल के लिए सार्थक एवं निरंतर समग्र वार्ता प्रक्रिया की पाकिस्तान की इच्छा पर जोर दिया।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *