Breaking News

उमर खालिद से है इस बॉलीवुड एक्ट्रेस का कनेक्शन, स्कूल में पढ़ते थे साथ

huma-umarनई दिल्ली। बॉलीवुड एक्ट्रेस हुमा कुरैशी ने जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद का बचाव किया है और उन्होंने कहा है कि वो उसे फॉलो करती हैं। हुमा ने ट्वीट कर बताया कि उमर खालिद स्कूल में उनका जूनियर था।
इस ट्वीट के साथ हुमा ने एक यू-ट्यूब लिंक भी शेयर किया, जिसमें उमर खालिद का वो भाषण है जो उसने रविवार रात जेएनयू में वापस आने के बाद दिया था। हुमा ने साथ ही लिखा की इंडिया के लोग इसे सुने की यह स्टूडेंट क्या कह रहा है।
क्या है विवाद?
– जेएनयू में 9 फरवरी को लेफ्ट स्टूडेंट्स के ग्रुप्स ने संसद पर हमले के गुनहगार अफजल गुरु और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के को-फाउंडर मकबूल भट की याद में एक प्रोग्राम ऑर्गनाइज किया था। इसे कल्चरल इवेंट का नाम दिया गया था।
– जेएनयू में साबरमती हॉस्टल के सामने शाम 5 बजे उसी प्रोग्राम में कुछ लोगों ने देशविरोधी नारेबाजी की। इसके बाद लेफ्ट और एबीवीपी स्टूडेंट्स के बीच झड़प हुई।
– 10 फरवरी को नारेबाजी का वीडियो सामने आया। दिल्ली पुलिस ने 12 फरवरी को नारेबाजी के आरोप में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया।
– इसके बाद जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन के प्रेसिडेंट कन्हैया कुमार को अरेस्ट कर लिया गया। जबकि खालिद फरार हाे गया था।
कौन है उमर खालिद?
– डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स यूनियन का नेता उमर महाराष्ट्र का रहने वाला है।
– खालिद ने ही 9 फरवरी को संसद पर हमले के गुनहगार अफजल गुरु की बरसी पर प्रोग्राम करवाया था।
– प्रोग्राम की इजाजत रद्द होने के बाद जब डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स यूनियन और लेफ्ट के लोग जेएनयू में मार्च कर रहे थे, तब उमर उनकी अगुआई कर रहा था।
– बताया जाता है कि जिस वक्त नारे लग रहे थे, उस वक्त उमर न केवल वहां मौजूद था, बल्कि जेएनयू प्रशासन और एबीवीपी के खिलाफ उसने ही नारेबाजी शुरू की थी।
– कन्हैया कुमार के साथ भी उसे कई वीडियो में देखा गया।
– 11 फरवरी को जब एबीवीपी के खिलाफ लेफ्ट की स्टूडेंट्स यूनियनें प्रदर्शन कर रही थीं, तो उस वक्त उमर और कन्हैया एक साथ थे।
जेएनयू में लगातार माहौल बिगाड़ने की कोशिश करता रहा है खालिद
– एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने एक रिपोर्ट में कहा था कि खालिद के ग्रुप ने ही कैम्पस में देवी-देवताओं की आपत्तिजनक अंदाज में तस्वीरें लगाकर नफरत पैदा करने की कोशिश की थी।
– आरोप है कि खालिद के ग्रुप ने आतंकी अफजल गुरु की फांसी पर जेएनयू कैम्पस में मातम मनाया था।
– नक्सली हमले में सीआरपीएफ जवानों के मारे जाने पर भी इसी ग्रुप ने जेएनयू में जश्न मनाया था।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *