Breaking News

सुपर कॉप विजय ने बताया राजीव गांधी की हत्या की खबर सुनकर छलक आए थे आंसू

लखनऊ। इंडिया टुडे के ‘लल्लन टॉप शो’ में तमिलनाडु कैडर के आईपीएस अधिकारी के विजय कुमार और यूपी एसटीएफ के चीफ अमिताभ यश शामिल हुए. इन दोनों सुपर कॉप ने अपनी जाबांजी के किस्से सुनाए और पुलिस की भूमिका पर बात की. विजय कुमार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सुरक्षा दस्ते में रह चुके हैं और वीरप्पन की मारने वाली टीम का हिस्सा थे. वहीं अमिताभ यश ने यूपी के ददुआ जैसे डाकुओं को मौत के घाट उतारा.

के विजय कुमार ने बताया कि उनके पिता भी पुलिस इंस्पेक्टर थे. 42 साल से पुलिस सेवा कर रहे हैं और खुशी होती है. अमिताभ यश ने बताया कि उनके पिता भी पुलिस में थे और उन्होंने पढ़ना-लिखना थाने की टेबल से सीखा और बैरक में भोजन करते थे. उन्होंने बताया, पिता जी चाहते थे कि पुलिस सेवा न ज्वॉइन करूं. पिताजी कहा करते थे कि पुलिसवाले का एक पैर जेल में और एक अर्थी पर होता है, लेकिन समाज की सेवा करने से सबसे बेहतर जरिया है.’

चंदन तस्कर वीरप्पन को मारने वाली टीम के सदस्य के विजय कुमार ने बताया कि कैसे वीरप्पन का एनकाउंटर किया गया. उन्होंने बताया कि लंबी तैयारी की गई थी. स्नाइपर और स्पेशल सेल के लोग टीम में शामिल थे.

Loading...

विजय कुमार पूर्व पीएम राजीव गांधी के सुरक्षा दस्ते में भी रह चुके हैं. इस पर उन्होंने कहा कि 21 मई 1991 में श्रीपेंरबदूर में राजीव गांधी की हत्या की गई. उन्होंने बताया कि हत्या के वक्त वह राजीव की सुरक्षा में शामिल नहीं थे. पूर्व प्रधानमंत्री की हत्या के बाद दंगे जैसे हालात थे और अपनी भावनाएं छिपाने के लिए चश्मा पहनना पड़ा ताकि जनता हमारे आंसू न देख सके और लोगों की मदद की जा सके.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *