Breaking News

एक परिवार के 80 सदस्यों ने ली अंगदान की प्रतिज्ञा

80मुंबई। 80 सदस्य वाले ईसाई परिवार ने समाज सेवा का एक गजब उदाहरण पेश किया है। परिवार के सभी 80 सदस्यों ने अंगदान करने का संकल्प लिया है। राज्य में अंगदान करने वाला यह सबसे बड़ा परिवार है। इससे पहले छत्तीसगढ़ में एक जैन परिवार के 32 सदस्यों ने अंगदान करने का फैसला किया था।

इस परिवार में सबसे बुजुर्ग सदस्य लोपेज 82 साल के हैं, जबकि सबसे कम उम्र का सदस्य 12 साल का है। परिवार के सदस्य विरर अघासी और उसके आस-पास के इलाकों में रहते हैं, कुछ सदस्य विदेश में भी बसे हुए हैं, लेकिन सभी सदस्यों ने मृत्यु के बाद अपने अंग दान करने का फैसला किया है।

इलियास लोपेज (60), अपने पिता (82) और भाइयों के साथ अघासी में रहे हैं। इलियास ने बताया कि अंगदान पर दिए गए एक लेक्चर को सुनने के बाद वह अंगदान करने के लिए प्रेरित हुए।

बापू साहब पवार चैरिटेबल ट्रस्ट (एनजीओ) ने 10 जनवरी को अंगदान पर एक लेक्चर आयोजित किया था। चीफ ट्रस्टी पुरुषोत्तम पवार पाटिल ने बताया पूरे परिवार को अंगदान के लिए जरूरी डॉक्युमेंट्स पर एक साथ हस्ताक्षर करने होंगे।

Loading...

इलियास ने बताया, लेक्चर के बाद जब मैंने अंगदान करने की बात कही तो परिवार के अन्य सदस्यों ने भी इसके लिए अपनी इच्छा जताई। मेरे पिता ने कहा कि वह भी अंगदान करना चाहते हैं। इसके बाद मैंने अपनी बेटी को फोन कर पूछा तो उसने और उसके पति ने भी अंगदान के लिए हामी भर दी।

एनजीओ चलाने वाले पवार पाटिल ने कहा, ‘मैंने नहीं सोचा था कि एक लेक्चर के दौरान इतने बड़े स्तर पर अंगदान के लिए लोग आगे आएंगे।’ पाटिल ने कहा, ‘कई लोग अपने धार्मिक आस्थाओं के कारण अंगदान करने के लिए आगे नहीं आते हैं, लोपेज परिवार उनके लिए एक उदाहरण बन सकता है।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *