Breaking News

प्रधानमंत्री के दौरे के बीच छेड़खानी के विरोध में अलसुबह से बीएचयू की छात्राओं का धरना-प्रदर्शन

*छेड़खानी के विरोध में छात्रा ने मुडवाया सर का बाल

* कल रात से ही चल रहा है धरना

वाराणसी। छेड़खानी से आजिज और परिसर में छात्राओं की सुरक्षा की मांग को लेकर बीती रात से ही हजारों की संख्या में प्रधानमंत्री के काशी दौरे से पूर्व बीएचयू सिंहद्वार पर सुबह सात बजे से धरना प्रदर्शन शुरु कर दी है, धरना प्रदर्शन के कारण जिला प्रशासन और बीएचयू प्रशासन पूरी तरह असहाय दिख रहा है। सबसे बडी बात की पीएम को डीएलडब्लू से दुर्गाकुंड दर्शन पूजन के लिए बीएचयू सिंहद्वार के ही रास्ते से जाना है। हालांकि पीएम के दो दिवसीय काशी दौरे के मद्देनज़र उनकी सुरक्षा में 8 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है लेकिन बीएचयू में हड़ताली हजारों छात्राओं के लिए अंगुलियों पर गीने महिला सुरक्षाकर्मी हैं जो नाकाफी है।

बीएचयू में आये दिन हो रही छेड़खानी के विरोध में सिंहद्वार पर धरना स्थल पर ही अपने सर का बाल मुडवा लिया। धरने पर बैठी छात्राओं को जिले के आलाधिकारी मनाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन छात्राएं अपनी मांग पर अड़ी हुई है।

गौरतलब है कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय की छात्रा से गुरुवार की शाम भारत कला भवन के पास बाइक सवार मनचलों ने छेड़खानी कर दी। छेड़खानी की शिकार छात्रा ने मनचलों से बचाव के लिए शोर मचाया लेकिन इसके बावजुद छात्रसंघ भवन चौराहे के पास सुरक्षा में हमेशा तैनात रहने वाले प्राक्टोरियल बोर्ड के सुरक्षाकर्मियों ने छेडखानी की शिकार छात्रा की मदद नहींं की। देखते ही देखते वहां कई लोग पहुंच गये इसी बीच मौका पाकर बाईक सवार मनचले छेडखानी करने के बाद फरार हो गये ।

Loading...

छेडखानी से सहमी छात्रा किसी तरह डरते हुये अपने त्रिवेणी छात्रावास पहुंची और मामले की जानकारी अपने वार्डेन को दी। इसी बीच मामले की जानकारी होते ही छात्रावास में रहने वाली छात्राओं ने आक्रोशित होकर दोषियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर छात्रावास में ही घरने पर बैठ गई। धरने पर बैठी छात्राओं ने यह आरोप लगाया कि आये दिन परिसर में बेखौफ मनचलों के छेड़खानी की शिकार लडकियां हो रही है जिसके कारण छात्राओं में असुरक्षा की स्थिति उत्पन्न हो गई है। छात्राओं के घरने पर बैठ जाने की सूचना पर विश्वविद्यालय प्रशासन का हाथ पैर फुल गया।

धरना स्थल पर पहुंचे चीफ प्राक्टर ने छात्राओं को समझाने बुझाने का प्रयास किया लेकिन छात्राएं अपनी मांग पर अडी रही । इसके बाद कुलपति प्रो जी सी त्रिपाठी त्रिवेणी छात्रावास पहुंच कर आंदोलित छात्राओं को यह भरोसा दिया कि परिसर में छात्राओं की सुरक्षा के लिए विशेष सुरक्षा व्यवस्था की जायेगी। इसके बावजूद छात्राएं छेडखानी के दोषियों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ी रही।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *