Breaking News

दक्षिण चीन सागर पर UN में ट्रंप की टिप्पणी पर चीन का पलटवार

पेइचिंग। चीन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप द्वारा दक्षिण चीन सागर पर अपने दावे की आलोचना पर पलटवार किया है। पेइचिंग ने कहा है कि अमेरिका उसकी संप्रभुता के लिए बड़ा खतरा है। बता दें कि मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में डॉनल्ड ट्रंप ने रूस और चीन का बिना नाम लिए यूक्रेन और प्राकृतिक संपदा के लिहाज से समृद्ध दक्षिण चीन सागर की ‘संप्रभुता पर खतरे’ की बात कही थी। ट्रंप ने कहा था, ‘हमें कानूनों, सीमाओं और संस्कृति का हर हाल में सम्मान करना चाहिए।’

रणनीतिक लिहाज से काफी अहम दक्षिण चीन सागर के करीब पूरे हिस्से पर चीन अपना दावा करता है और वह तेजी से वहां ऐसे कृत्रिम द्वीप बना रहा है जिन पर सैन्य विमान उतारे जा सकें। इस साल जनवरी में ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से अमेरिका ने दक्षिण चीन सागर में चीन के कब्जे वाले द्वीपों के नजदीक 3 ‘फ्रीडम ऑफ नैविगेशन’ ऑपरेशन चला चुका है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा में ट्रंप की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लु कंग ने पेइचिंग में कहा, ‘कभी-कभी कुछ देश फ्रीडम ऑफ नैविगेशन की आड़ में अपने विमानों और नौसैनिक बेड़ों को दक्षिण चीन सागर के नजदीक लाते हैं। वास्तव में, मुझे लगता है कि इस तरह के व्यवहार से दक्षिण चीन सागर से जुड़े देशों की संप्रभुता को खतरा होता है।’

Loading...

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि चीन और ASEAN (असोसिएशन ऑफ साउथ-ईस्ट एशियन नेशंस) के प्रयासों की बदौलत समुद्र में हालात अब शांत हो रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि इस स्थिति का संबंधित देश भी सम्मान करेंगे।’

ट्रंप की उस चेतावनी पर कि अगर नॉर्थ कोरिया अमेरिका या उसके सहयोगियों को खतरे में डालेगा तो वह उसे नेस्तनाबूद कर देंगे, प्रवक्ता ने कहा कि ‘संयम’ दिखाने की जरूरती है। लु ने कहा कि पेइचिंग परमाणु मुद्दे को सही ट्रैक पर लाने और बातचीत के जरिए शांतिपूर्ण समाधान की कोशिश का पक्षधर है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *