Breaking News

‘बुलेट दोस्ती’ से तिलमिलाया चीन, कहा- पार्टनरशिप होनी चाहिए गुटबाजी नहीं

नई दिल्ली। भारत और जापान की बढ़ती दोस्ती देख चीन तिलमिला गया है. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के भारत दौरे के बीच चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि दो देशों के बीच दोस्ती होनी चाहिए गुटबाजी नहीं. दरअसल आज जापान के पीएम शिंजो आबे ने बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का शिलान्यास करने के बाद कहा कि ऐसा करके उन्हें बेहद खुशी हो रही है. इससे भारत और जापान के रिश्ते और मजबूत हुए हैं. इसके साथ ही शिंजो आबे ने कहा कि जापान भारत के पक्ष में है. शिंजो आबे ने डोकलाम विवाद पर बिना चीन का नाम लिए निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि ताकत से सीमा में बदलाव का हम विरोध करते हैं.

भारत-जापान की दोस्ती से बौखला रहा है ड्रैगन
शिंजो आबे का ऐसा कहना दरअसल चीन के लिए संदेश है. भारत और जापान की इसी दोस्ती को देख चीन बौखला रहा है. आज चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा, “हम क्षेत्रीय देशों के बीच गुटबाजी के बजाए पार्टनरशिप की वकालत करते हैं.” चीनी प्रवक्ता ने बात जापान के प्रधानमंत्री की भारत दौरे के को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कही.

भारत और जापन के बीच हुए हैं 15 अहम समझौते
आपको बता दें जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे दो दिन के भारत दौरे पर हैं. कल उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अहमदाबाद में आठ किलोमीटर लंबा रोड शो किया और मुंबई अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजन शुरुआत भी की. इसके अलावा भारत और जापान के बीच 15 अहम समझौते भी हुए.

Loading...

इशारों में ही चीन को समझा गए शिंजो आबे
आज अहमदाबाद में इशारों में चीन को समझाते हुए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा, ”ताकत से सीमा में बदलाव का हम विरोध करते हैं. शक्तिशानी भारत जापान के हित में है और शक्तिशानी जापान भारत के हित में है.”

शिजों आबे ने प्रधानमंत्री मोदी की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा, “पीएम मोदी ग्लोबल और दूरदर्शी नेता हैं. अगर जापान का ‘JA’ और इंडिया का ‘I’ मिला दिया जाए तो जय हो जाएगा.” खास बात ये है कि शिंजो आबे ने मोदी को अपनी डियर फ्रेंड भी बताया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *