Monday , November 30 2020
Breaking News

अगर जेएनयू के आरोपी छात्र निर्दोष हैं तो सबूत पेश करें: बीएस बस्सी

bassi19नई दिल्ली।पिछले दिनों जेएनयू में हुई राष्ट्रविरोधी नारेबाजी के बाद से ही फरार चल रहे पांच छात्र रविवार शाम कैंपस लौट आए। दिल्ली पुलिस के कमिश्नर बीएस बस्सी ने छात्रों की गिरफ्तारी पर कहा है कि उनके पास कैंपस में दाखिल होने के सभी विकल्प खुले हुए हैं।

बस्सी ने कहा कि अगर छात्र निर्दोष हैं, तो उन्हें अपनी बेगुनाही के सबूत पेश करने चाहिए। उन्होंने कहा, ‘मुझे भरोसा है कि मेरी टीम इस मामले से निपटने में सक्षम है। छात्रों को जांच में सहयोग देना चाहिए।’

दूसरी तरफ, जेएनयू टीचर्स असोसिएशन के अध्यक्ष अजय पटनायक ने कहा है कि इस मामले में आंतरिक जांच की जानी चाहिए और पुलिस को कैंपस में घुसकर किसी को गिरफ्तार करने की इजाजत नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘छात्रों पर से आपराधिक षड़यंत्र और राष्ट्रद्रोह जैसे सभी चार्ज हटाए जाने चाहिए।’

Loading...

पटनायक ने यह भी कहा कि वह वीसी से मुलाकात करेंगे और मांग करेंगे कि छात्रों के खिलाफ कोई भी गलत आरोप नहीं लगाया जाना चाहिए। एक आरोपी छात्र रमा नागा ने कहा कि वह वीसी के फैसले पर अमल करेंगे। उन्होंने कहा, ‘पुलिस कैंपस में आ सकती है। छात्र यहीं हैं और पुलिस की जांच में पूरा सहयोग करेंगे।’ इस मामले पर दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी (लॉ ऐंड ऑर्डर), डीसीपी और ज्वायंट सीपी ने मीटिंग भी की।

गौरतलब है कि रविवार शाम कैंपस लौटे खालिद और उसके साथियों ने स्टूडेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने देशविरोधी नारेबाजी नहीं की थी। उमर ने अपने संबोधन की शुरुआत कुछ इस तरह की, ‘साथियों, मेरा नाम उमर खलिद जरूर है, लेकिन मैं आतंकवादी नहीं हूं।’

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *