Breaking News

हनीप्रीत के नेपाल और उत्तराखंड में छिपे होने की आशंका, बाबा का करीबी भक्त कर रहा है मदद

लखनऊ। यूपी के लखीमपुर खीरी में सीमा पर बरामद की गयी लावारिश गाड़ी पंजाब राज्य की है. इसलिए हनीप्रीत के नेपाल भागने का शक और गहरा होता जा रहा है. हालांकि हरियाणा पुलिस लखीमपुर खीरी की सीमा में हनीप्रीत की खोज में खाक छानकर रवाना हो चुकी है.लेकिन यहां लावारिश मिली एक गाड़ी इस बात का शक और पक्का कर रही है कि हनीप्रीत नेपाल के गौरीफंटा सीमा से नेपाल भागी है. दरअसल लखीमपुर खीरी और इसी से लगे जिले पीलीभीत से नेपाल जाने के कई ऐसे रास्ते हैं जहां कोई भी सुरक्षा के इंतजाम नहीं हैं. जिसके चलते कोई भी इन रास्तों से नेपाल और भारत आ जा सकता है.

नेपाल जाने के लिए लखीमपुर और पीलीभीत के बीच 14 रास्ते

गौरतलब है कि नेपाल आने और जाने के तकरीबन 14 छोटे बड़े रास्ते इन जिलों कि सीमाओं से लगे हैं. इन रास्तों में से तो कई ऐसे रास्ते हैं जहां कोई भी सुरक्षा व्यवस्था के इंतजाम नहीं हैं. इसलिए कोई भी इन रास्तों से देश के भीतर घुस सकता है और इन्हीं रास्तों से नेपाल देश भाग सकता है. फिलहाल दुष्कर्म के मामले में बीस वर्ष जेल की सजा के बाद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के सितारे गर्दिश में हैं. उसकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसान के खिलाफ भी रेड कार्नर नोटिस जारी हो गया है. अपनी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत को डेरा सच्चा सौदा प्रमुख अपने साथ जेल में रखने की मांग कर रहा है. जबकि उसके नेपाल भागने की आशंका है.

हनीप्रीत के खिलाफ जारी किया जा चुका है लुक आउट नोटिस 

दुष्कर्म के दो मामलों में करीब एक हफ्ते से रोहतक जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख दुष्कर्म के दो मामलों में दोषी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की करीबी सहयोगी तथा मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की तलाश में कल हरियाणा पुलिस लखीमपुर खीरी पहुंची. दो साध्वियों से बलात्कार के आरोप में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को पिछले महीने 20 साल की सजा सुनाए जाने के बाद हनीप्रीत के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया था.

हरियाणा पुलिस गौरीफंटा में हनीप्रीत की तलाश करती रही 

अपर पुलिस अधीक्षक घनश्याम चैरसिया ने आज यहां बताया कि हरियाणा पुलिस के दो अफसर कल नेपाल से सटे गौरीफंटा क्षेत्र पहुंचे. इस दौरान उन्होंने गौरीफंटा थाने के साथ कुछ सूचनाएं साझा की और हनीप्रीत के सीमा पार करके नेपाल भागने की अपनी आशंकाओं के बारे में बताया. उन्होंने बताया कि हनीप्रीत के नेपाल भागने के बारे में कोई सुराग नहीं मिलने पर हरियाणा पुलिस वापस लौट गयी. चैरसिया ने बताया कि सीमा पर पंजाब की पंजीयन संख्या वाली एक लावारिस गाड़ी बरामद की गयी है.

Loading...

सीमा पर लावारिश मिली गाड़ी निकली पंजाब की 

यह पता लगाया जा रहा है कि वह किसकी है और उसका हनीप्रीत से कोई संबंध तो नहीं है. दो साध्वियों से दुष्कर्म के आरोप में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बीते महीने 20 साल की सजा सुनाये जाने के बाद हनीप्रीत के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया था. इस नोटिस के बाद हनीप्रीत देश छोड़कर नहीं जा सकती. ऐसे में हरियाणा पुलिस को शक है कि हनीप्रीत इंसान खुले बॉर्डर के सहारे नेपाल भाग सकती है. आशंकाओं के मद्देनजऱ कल हरियाणा पुलिस की टीम इंडो नेपाल बॉर्डर के गौरीफंटा कस्बे में पहुंची. गौरीफंटा पुलिस व एसएसबी को हनीप्रीत की तस्वीरें दिखाकर यह जानने की कोशिश की कि कहीं वह नेपाल की तरफ तो नहीं गई. करीब दो घंटे तक हरियाणा पुलिस के अधिकारी बॉर्डर पर जमे रहे.

SP ने की छापेमारी की पुष्टि 

एसपी लखीमपुर खीरी डॉ. एस चनप्पा ने छापेमारी की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि हरियाणा पुलिस की टीम ने गौरीफंटा कोतवाली पुलिस से संपर्क किया था. हरियाणा पुलिस ने इस मामले में स्थानीय पुलिस का सहयोग मांगा है.गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत की मुम्बई में कथित गिरफ्तारी की खबरों के बीच हरियाणा पुलिस अब इंडो नेपाल बॉर्डर की भी खाक छान रही है. हरियाणा पुलिस दो दिन से इंडो नेपाल बॉर्डर पर सुरागरसी में डटी है. पुलिस ने कस्टम, एसएसबी और स्थानीय पुलिस से हनीप्रीत के फोटो दिखा जानकारी हासिल की.

हनीप्रीत के नेपाल और उत्तराखंड में छिपे होने की आशंका 

पुलिस ने बाबा राम रहीम के चेलों के बारे में भी पूछताछ की. हरियाणा पुलिस की टीम सादी वर्दी में आई. एसएसबी के नाके पर सीसीटीवी फुटेज खंगाले और लोगों से भी पूछताछ की. हरियाणा पुलिस की टीम ने मीडिया से दूरी बनाए रखी और बात नहीं की. मुम्बई में भी बाबा की मुंहबोली बेटी की एयरपोर्ट से गिरफ्तारी की बात सामने आ रही थी पर हरियाणा पुलिस ने पुष्टि नहीं की है. सूत्रों के मुताबिक हनीप्रीत बहुत ही चतुर है. उसको अगर नेपाल भागना होगा तो वह इन जिलों के उन रास्तों को चुनेगी जहां कोई पहरा नहीं होता. यही नहीं डेरा सच्चा सौदा के भक्त लखीमपुर खीरी और पीलीभीत जिले के अंतिम छोर जहां से नेपाल की सीमा शुरू होती है, वहीँ पर बसे हुए हैं. इसलिए पुलिस का शक एकदम सही बताया जा रहा है, लेकिन वह जहां पर आकर हनीप्रीत की तलाश कर रहे हैं. उसके भागने का वह रास्ता नहीं हो सकता. दरअसल पुलिस को चकमा देने के लिए हनीप्रीत ने हो सकता है गाड़ी लखीमपुर सीमा पर छोड़ दी हो और वह पीलीभीत के रास्ते नेपाल या उत्तराखंड में जाकर छिप गयी हो. चूँकि इन जगहों पर बलात्कारी बाबा गुरुमीत के असंख्य भक्त बसे हगे हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *